DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  रुड़की  ›  सफेद हाथी साबित हो रहा गुर्जर बस्ती का पेयजल टैंक
हरिद्वार

सफेद हाथी साबित हो रहा गुर्जर बस्ती का पेयजल टैंक

हिन्दुस्तान टीम,हरिद्वारPublished By: Newswrap
Fri, 25 Aug 2017 04:57 PM
सफेद हाथी साबित हो  रहा गुर्जर बस्ती  का पेयजल टैंक

मुस्तफाबाद की गुर्जर बस्ती में पानी का संकट खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। स्वजल विभाग की ओर से बनाया गया पानी का टैंक बिजली का कनेक्शन कटा होने के कारण ठप पड़ा है। इससे लगभग छह हजार की आबादी को परेशानी उठानी पड़ रही है। ग्रामीणों ने टैंक का बिजली का बिल जमा कराते हुए पेयजल आपूर्ति बहाल करने की मांग की है। हालांकि ग्रामीण खुद बिल की रकम अदा करने को तैयार नहीं है।मुस्तफाबाद ग्राम पंचायत की वन गुर्जर बस्ती में स्वजल विभाग की ओर से पानी का टैंक बनाया गया था। लेकिन इसका लाभ कुछ दिन ही ग्रामीणों को मिल सका। बिजली का बिल जमा न होने पर ऊर्जा निगम ने कनेक्शन काट दिया। कई साल से टैंक से पानी की आपूर्ति बंद पड़ी है और लाखों की लागत से बना टैंक ग्रामीणों के लिए सफेद हाथी साबित हो रहा है। इससे ग्रामीणों को पानी का संकट झेलना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने गांव में बनी पानी की बंद टंकी को जल्द चालू करने की मांग की है। ग्रामीणों में मुस्तफा, हुसैन, सेन मौहम्मद, राशिद अली, कुरबान, मुजम्मिल, अलफदीन, मूसा, रानी हाजी, सूफी, गुलाम नबी, यामीन कसाना, गुलफाम आदि ने मांग उठाई की शीघ्र टैंक से पानी की सप्लाई शुरू कराई जाए। उधर, ग्राम प्रधान नजाकत अली ने बताया कि स्वजल ने टैंक ग्राम पंचायत को हैंडओवर कर दिया था। इसके बाद ग्राम पंचायत को ग्रामीणों की मदद से ही टैंक का रखरखाव करना था। लेकिन बिल का भुगतान नहीं होने के कारण कनेक्शन कट गया है। ग्रामीणों की ओर से पैसे देने के बाद ही ग्राम पंचायत बिजली का बिल जमा करा पाएगी।

संबंधित खबरें