DA Image
20 सितम्बर, 2020|7:09|IST

अगली स्टोरी

आंदोलनकारियों की समस्या दूर करे सरकार

default image

चिह्नित राज्य आंदोलनकारी समिति के नव नियुक्त अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह रावत ने कहा कि चिह्नित होने से वंचित आंदोलनकारियों का चिह्निकरण सरकार जल्द करे। इस दौरान समिति के पदाधिकारियों के नाम का भी ऐलान किया गया।

अशोक नगर रुड़की में पत्रकार वार्ता से पहले खटीमा और मसूरी में शहीद हुए राज्य आंदोलनकारियों और पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को श्रद्धांजलि दी गई। समिति संरक्षक राजेंद्र सिंह रावत ने से नव नियुक्त अध्यक्ष का परिचय करवाते हुए बताया कि अध्यक्ष के भाई श्रीयंत्र टापू और पिता रामपुर तिराहा कांड में शहीद हुए थे। अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य आंदोलन की लड़ाई जोर शोर से लड़ी जाएगी। आंदोलनकारियों के शासनादेशों को मिला कर एक ऐक्ट बनाए जाने, वंचित राज्य आंदोलनकारियों का जल्द चिह्निकरण किए जाने, एक समान पेंशन का वितरण, मृतक आश्रित पेंशन लागू करने, राज्य सैनानी का दर्जा दिए जाने, रामपुर तिराहा कांड के आरोपियों को शीघ्र सजा दिलाने की मांग की। इस दौरान सतीश नेगी को रुड़की शहर अध्यक्ष, नरेंद्र सिंह गुसाईं को जिला उपाध्यक्ष बनाया गया। इस दौरान केन्द्रीय अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह रावत, डॉ. अमर सिंह एहतान, कमला पांडे, भीम सिंह रावत, आर एस मनराल, आनन्द सिंह रावत, विनोद नेगी, प्रदीप बुडाकोटी, धर्मपाल भारती, विनोद नेगी, मातवर सिंह रावत, आनंद सिंह नेगी, जगदीश खड़ायत आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Government should remove the problem of agitators