ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंड रुड़कीऔद्योगिक क्षेत्र का ड्रेनेज प्लान तीन-चार चरणों में बनेगा

औद्योगिक क्षेत्र का ड्रेनेज प्लान तीन-चार चरणों में बनेगा

देहरादून में मुख्यमंत्री और सचिवों के साथ बैठक में उद्योगों की समस्या रखी। भगवानपुर में ड्रेनेज प्लान तीन-चार चरणों में बनाने का आश्वासन सीएम ने...

औद्योगिक क्षेत्र का ड्रेनेज प्लान तीन-चार चरणों में बनेगा
हिन्दुस्तान टीम,रुडकीThu, 16 Sep 2021 10:20 PM
ऐप पर पढ़ें

रुड़की और भगवानपुर के उद्यमियों ने देहरादून में मुख्यमंत्री और सचिवों के साथ बैठक में उद्योगों की समस्या रखी। भगवानपुर में ड्रेनेज प्लान तीन-चार चरणों में बनाने का आश्वासन सीएम ने दिया। उद्यमियों ने रामनगर औद्योगिक क्षेत्र को फ्री होल्ड करने की मांग भी उठायी।

उद्योगों को सहूलियत देने के लिए सरकार लगातार उद्यमियों के साथ लगातार बैठक कर रही है। उद्योगों ने अपनी समस्याओं को शासन और सरकार के सामने रखा है। उद्योगों की समस्याओं के समाधान के लिए बुधवार शाम को देहरादून में बैठक हुई। इसमें रुड़की और भगवानपुर के उद्यमी भी शामिल हुए। बैठक पहले मुख्य सचिव, विभिन्न विभागों के सचिवों के साथ हुई। उन्हें उद्यमियों ने समस्या बतायी। इसके बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और उद्योग मंत्री गणेश जोशी भी बैठक में शामिल हुए।

भगवानपुर इंडस्ट्रियल एसोसिएशन के महासचिव गौतम कपूर ने बताया कि बैठक में कई सकारात्मक चीजें निकली हैं। औद्योगिक क्षेत्रों में मूलभूत सुविधाओं से लेकर उद्यमियों के सामने आने वाली समस्याओं के निस्तारण का रास्ता निकाला गया। बताया कि भगवानपुर औद्योगिक क्षेत्र में जल भराव प्रमुख समस्या है। ड्रेनेज प्लान को लेकर लंबी चर्चा हुई। सीएम ने भी भगवानपुर की समस्याओं के समाधान की दिशा में काम करने का भरोसा दिया।

भगवानपुर क्षेत्र में सिंचाई विभाग ने ड्रेनेज प्लान बनाया गया। करीब 122 करोड़ के इस प्लान को चरणबद्ध तरीके से लागू किया जाएगा। बताया कि सीएम ने तीन से चार चरणों में इसे पूरा करने का भरोसा दिया। रुड़की स्मॉल स्केल इंडस्ट्री एसोसिएशन के केतन भारद्वाज ने बताया कि रुड़की के रामनगर औद्योगिक क्षेत्र की भूमि को फ्री होल्ड करने का मामला उठाया गया। बताया कि अभी 44 साल की लीज और बाकी है। इसे फ्री होल्ड करने, लैंड यूज चेंज करने में आ रही समस्या को दूर करने की बात एसोसिएशन ने बताया।

यूपी की तर्ज पर उद्योगों को जमीन खरीदने का सुझाव दिया गया। बताया कि रुड़की में लघु और सूक्ष्म उद्योग हैं। इन उद्योगों को सरकारी टेंडरों में प्राथमिकता देने की मांग उठाई गई। उन्होंने बताया कि अगले सप्ताह फिर से सचिव राधिका झा के साथ बैठक प्रस्तावित है। इसमें भी मामले रखे जाएंगे। इस दौरान अजय गर्ग, एचएम कपूर, शिवम गोयल आदि मौजूद रहे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें