Do work to promote Sanskrit language - संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए करें काम DA Image
21 फरवरी, 2020|12:39|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए करें काम

संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए करें काम

1 / 2उत्तराखंड संस्कृत अकादमी की ओर से गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में अखिल भारतीय संस्कृत कवि सम्मेलन का आयोजित किया...

संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए करें काम

2 / 2उत्तराखंड संस्कृत अकादमी की ओर से गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में अखिल भारतीय संस्कृत कवि सम्मेलन का आयोजित किया...

PreviousNext

उत्तराखंड संस्कृत अकादमी की ओर से गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में अखिल भारतीय संस्कृत कवि सम्मेलन का आयोजित किया गया। महामंडलेश्वर स्वामी यतींद्रानंद गिरी महाराज ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम से संस्कृत भाषा को बढ़ावा मिलता है।बीएसएम इंटर कॉलेज में आयोजित कवि सम्मेलन में हरियाणा, रायबरेली, अलीगढ़, चंपावत, काशीपुर, हरिद्वार आदि जगहों से आए कवियों काव्यपाठ किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए महामंडलेश्वर स्वामी यतींद्रानंद गिरी महाराज ने गणतंत्र दिवस पर संस्कृत कवि सम्मेलन का होना सम्मान की बात है। विशिष्ट अतिथि पूर्व राज्यमंत्री मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि संस्कृत भाषा को कई लोग कठिन मानते हैं। जबकि संस्कृत को अगर ध्यान से पढ़ा या समझा जाए तो यह आसानी से समझ में आ जाती है। कहा कि हमारे वेद, पुराण, धर्म ग्रंथ की भाषा संस्कृत है। देश के हर नागरिक को संस्कृत का ज्ञान होना चाहिए। कार्यक्रम संयोजक मुख्य शिक्षाधिकारी डॉ. आनंद भारद्वाज ने संस्कृत में संबोधन किया। कहा कि संस्कृत भाषा के विकास में सबको योगदान देना चाहिए। कहा कि जो युवा संस्कृत भाषा से मध्यमा, पूर्व मध्यमा, शास्त्री, आचार्य जैसी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं उनसे पूरे देश की अपेक्षा है कि वह संस्कृत भाषा को देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी ख्याति दिलाएंगे। इस दौरान डॉ. श्रेयांश द्विवेदी, प्रशस्य मित्र शास्त्री, सुरेंद्र कुमार शर्मा, प्रकाश पंत आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Do work to promote Sanskrit language