DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छह जून को नहीं मिलेंगे ओपीडी में डाक्टर

कैमिस्टों की हड़ताल के बाद अब डॉक्टर भी एक दिवसीय हड़ताल की पूरी तैयारी में हैं। छह जून को सभी प्राइवेट अस्पताल, क्लीनिक और नर्सिंग होम बंद रहेंगे। साथ ही डॉक्टर नई नीति के विरोध में दिल्ली के इंडिया गेट पर एकत्र होकर विरोध प्रदर्शन करेंगे। रुड़की आईएमए अध्यक्ष वंदना ग्रोवर ने संस्था से जुड़े सभी डॉक्टरों को बढ़-चढ़कर इस आंदोलन में भाग लेने के लिए प्रेरित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि डॉक्टरों के साथ आए दिन हिंसा हो रही है। लेकिन इससे बचाव के लिए कानून नहीं बनाया जा रहा है। ऐसे में डॉक्टरों का काम करना मुश्किल हो रहा है। कई बार डॉक्टर खतरे की आशंका को देखते हुए मरीजों को देखने की हिम्मत भी नहीं कर पाते हैं। उन्होंने कहा कि क्लीनिकल इस्टेब्लिसमेंट एक्ट में संशोधन की जरूरत है। लिपिकीय त्रुटि पर भी डॉक्टरों पर तलवार लटक जाती है। एलोपैथिक दवाओं का नुस्खा केवल एमबीबीएस व बीडीएस डॉक्टरों को दिया जाना चाहिए। नुस्कों को लिखने में पेशेवर स्वतंत्रता भी जरूरी है। उन्होंने एनएमसी पर रोक लगाने और आईएमसी एकत्र में संशोधन की मांग को लेकर यह आंदोलन करने का ऐलान किया। साथ ही सभी डॉक्टरों से इस हड़ताल में भाग लेने का आह्वान किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Do not meet OPD on June 6