DA Image
27 अक्तूबर, 2020|9:01|IST

अगली स्टोरी

महिला अपराधों पर रोक लगाने की मांग

default image

मूल निवासी विद्यार्थी संघ ने हाथरस मामले को लेकर नगर निगम चौक से तहसील तक पैदल मार्च निकाला। संघ ने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा गया।

जिसमें महिलाओं के साथ बढ़ते अपराध और मूल निवासी समाज के साथ अत्याचार पर रोक लगाने की मांग की।

संगठन से जुड़े सदस्य नगर निगम चौक पर एकत्र हुए और विरोध प्रदर्शन किया। इसके बाद तहसील तक पैदल मार्च निकाला गया। विद्यार्थी संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललित कुमार ने कहा देश में बहन-बेटियों पर बढ़ते अपराध चिंता का विषय है। हाथरस में जो हुआ वह इसकी बानगी है। प्रशासन न्याय दिलाने के बजाय आधी रात को युवती का शव जलाता है। उन्होंने कहा कि इस जुर्म की सजा केवल फांसी ही है। जिला अध्यक्ष आकाश पटेल ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार इस मामले में अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठा पाई है। उन्होंने कहा कि इस घटना से संबंधित गवाह और सबूत खत्म करने का षड्यंत्र रचे जाने की आशंका भी प्रतीत हो रही है। इसके बाद जेएम के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा गया। कहा कि कुछ जातिवादी मानसिकता के संगठन हैवानी करने वालों के समर्थन में खड़े होते दिख रहे हैं। उन्होंने मांग की कि मामले में सीबीआई जांच कर दोषियों को फांसी की सजा दी जाए। इस अवसर पर जॉनी, देवराज, सुधीर गौतम,राजा, अजय सिंह आदि मौजूद रहे।