DA Image
20 अक्तूबर, 2020|5:06|IST

अगली स्टोरी

चीनी की बिक्री कम होने से भुगतान में हो रही देरी

default image

इकबालपुर शुगर मिल की ओर से गत वर्ष के पेराई सत्र का अभी भी 50 करोड़ रुपये भुगतान बचा हुआ है। समिति अधिकारियों का कहना है कि चीनी की बिक्री कम होने के कारण भुगतान में देरी हो रही है।

इकबालपुर शुगर मिल ने 12 दिसंबर से पेराई सत्र की शुरुआत की थी। उसके बाद 26 अप्रैल को पेराई सत्र को समाप्त कर दिया था। इस दौरान शुगर मिल ने 45 लाख 38 हजार कुंतल गन्ने की पेराई की थी। किसानों को अभी तक करीब 95 करोड़ का भुगतान किया जा चुका है। अभी भी करीब 50 करोड़ रुपये का भुगतान बकाया है। वहीं शुरुआती दौर में शुगर मिल ने जिस तरह भुगतान को लेकर तेजी दिखाई थी। अब वह धीमी पड़ती दिख रही है। सहायक गन्ना आयुक्त शैलेन्द्र सिंह ने बताया कि 22 फरवरी तक भुगतान किया जा चुका है। बताया कि चीनी की डिमांड कम हो गई है। खरीदार भी चीनी खरीदने नहीं आ रहे हैं। किसानों को चीनी दी जा रही है। बताया कि किसानों को 20 करोड़ रुपये की चीनी दी जा चुकी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Delay in payment due to reduced sugar sales