DA Image
20 सितम्बर, 2020|3:47|IST

अगली स्टोरी

संक्रमण की चपेट में आ रहे कोरोना योद्धा

default image

आमजन को कोरोना से बचाने में जुटे कोरोना योद्धा इसके संक्रमण की सबसे ज्यादा जद में हैं। पुलिस व स्वास्थ्य विभाग के 8 कर्मचारी अभी तक इसकी चपेट में आ चुके हैं। इनके अलावा तीन पत्रकार भी कोरोना से संक्रमित हुए हैं। संक्रमित योद्धाओं के परिवार के दस से अधिक लोग भी कोरोना की मार झेल चुके हैं।

इस समय देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया कोरोना के खौफ के साए में जी रही है। लेकिन कुछ सरकारी व गैर सरकारी विभाग ऐसे हैं, जो इस खतरे के बावजूद अपनी जान जोखिम में डालकर आमजन को इसके खतरे से बचाने में लगे हुए हैं। अब कोरोना के संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा इन्हीं कोरोना योद्धाओं को है। अभी तक लक्सर सीएचसी की तीन स्टाफ नर्स और खानपुर सीएचसी की कोविड 19 टीम में शामिल एक वार्ड ब्वॉय कोरोना से संक्रमित आए हैं। इनमें लक्सर की एक स्टाफ नर्स के संपर्क में रहे उसके पति व तीन साल के बेटे में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है। खानपुर सीएचसी के संक्रमित वार्ड ब्वॉय के संपर्क में रहे आठ लोग भी कोरोना से संक्रमित निकले हैं। इनके अलावा लक्सर के एएसपी, सुल्तानपुर चौकी के एक दरोगा, एक सिपाही और हरिद्वार में तैनात भारुवाला निवासी एक पीआरडी जवान भी कोरोना के शिकार हो चुके हैं। साथ ही कोरोना की कवरेज करने वाले लक्सर के तीन पत्रकारों को भी कोरोना अपनी चपेट में ले चुका है। इनमें एक पत्रकार के परिवार के चार सदस्य भी उसकी वजह से इसकी चपेट में आए थे।

कोरोना की ड्यूटी कर रहे विभागीय कर्मचारियों को इसके संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा रहता है। हमारे कई कर्मचारी इससे संक्रमित हो चुके हैं। सभी का कोविड केयर सेंटर में इलाज चल रहा है। फिर भी हमारी टीमें पूरी निष्ठा से लगी हुई हैं।

डॉ. अनिल वर्मा, अधीक्षक, सीएचसी लक्सर

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona warriors in the grip of infection