DA Image
26 सितम्बर, 2020|3:29|IST

अगली स्टोरी

सात गुर्गों से गैंग चला रहा चीनू

default image

गैंगस्टर चीनू पंडित अपना वर्चस्व और गैंग बढ़ाने में लगा है। गैंगस्टर करीब तीन साल से रुड़की जेल में बंद है। फिलहाल उसके गैंग में सात गुर्गे हैं। धीरे-धीरे गैंगस्टर चीनू ने दूसरे गैंग के गुर्गों पर हाथ रखना शुरू कर दिया है।

जनपद में संगठित गिरोह चलाने वालों में सुनील राठी, प्रवीण वाल्मीकि, नरेंद्र वाल्मीकि, चीनू पंडित समेत करीब नौ गैंग हैं। लंबे समय तक यूपी के बदमाश सुनील राठी का यहां दबदबा था। रंगदारी, हत्या के कई मामलों में राठी का नाम सामने आने के बाद पुलिस ने उस पर शिकंजा कसा था। रंगदारी प्रकरण में उसकी मां की भी गिरफ्तारी हुई थी। उसके बाद राठी का दबदबा कम हो गया। उसकी गैंग के ही प्रवीण, नरेंद्र और चीनू ने खुद के अपने अलग गैंग बना लिए। पिछले कुछ सालों से रुड़की में प्रवीण वाल्मीकि ने कई आपराधिक घटनाओं को अंजाम दिलवाया। प्रवीण वाल्मीकि ने अपने गुर्गों से हत्या, रंगदारी और फायरिंग तक करवाई। जिसको लेकर प्रवीण वाल्मीकि सुर्खियों में रहा। अब रुड़की जेल में बंद गैंगस्टर चीनू पंडित अपना वर्चस्व और गैंग बढ़ाने में लगा है। नौ सितंबर को गैंगस्टर चीनू पंडित ने प्रवीण वाल्मीकि के गुर्गे सद्दाम से गैस गोदाम पर फायरिंग करवाई। पूरा ताना-बाना गैंगस्टर चीनू ने जेल से बुना। पुलिस को जानकारी मिली है कि चीनू अब अपना गैंग बढ़ाने में लगा है। फिलहाल चीनू पंडित गैंग में करीब सात गुर्गे हैं। वर्तमान समय में गैंगस्टर चीनू पंडित और प्रवीण वाल्मीकि गैंग के करीब 12 से अधिक गुर्गे जेल में बंद है। चीनू पंडित ने प्रवीण वाल्मीकि के गुर्गों पर अपना हाथ रखना शुरू कर दिया है। एसपी देहात एसके सिंह ने बताया कि चीनू पंडित और प्रवीण वाल्मीकि गैंग के करीब 12 से अधिक गुर्गे फिलहाल रुड़की जेल में बंद है। अपराधियों और उन्हें संरक्षण देने वालों से पुलिस सख्ती से निपटेगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chinu running a gang of seven operatives