DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  रुड़की  ›  तेरहवें वित्त के अनुदान में कटौती करने से प्रधान नाराज

रुडकीतेरहवें वित्त के अनुदान में कटौती करने से प्रधान नाराज

हिन्दुस्तान टीम,रुडकी
Mon, 10 Jul 2017 06:43 PM
तेरहवें वित्त के अनुदान में कटौती करने से प्रधान नाराज

राज्य वित्त से मिलने वाले अनुदान के बाद सरकार ने प्रधानों के 14 वें वित्त के अनुदान पर भी कैंची चला दी है। इससे नाराज प्रधान संगठन की लक्सर इकाई ने सोमवार को बैठक कर कहा कि 14 वित्त में कटौती केवल हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर जिलों में ही की गई है। इसे पूर्ववत करने की मांग को लेकर प्रधान मंगलवार को डीपीआरओ से मिलेंगे।पंचायतों को विकास कार्यों के लिए राज्य वित्त से मिलने वाले अनुदान को सरकार ने हाल ही में घटाकर एक तिहाई कर दिया है। इसे लेकर प्रदेश भर के ग्राम प्रधान आंदोलन कर रहे हैं। पिछले दिन प्रधानों ने सामूहिक इस्तीफे देकर इसका विरोध जताया था। अब सरकार ने 14 वें वित्त के तहत मिलने वाला पंचायतों का अनुदान भी 20 फीसदी कम कर दिया है। सोमवार को प्रधान संगठन की लक्सर इकाई ने खंड विकास कार्यालय के सभागार में बैठक की तथा सरकार के इस फैसले पर विरोध जताया। वक्ताओं ने कहा कि पिछले दिनों प्रधान संगठन के प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियों के साथ हुई बैठक में सरकार ने राज्य वित्त का अनुदान पूर्ववत करने के साथ ही प्रधानों का मानदेय बढ़ाने व उत्तराखंड का पंचायती राज अधिनियम लागू करने पर सहमति जता दी थी। लेकिन अब सरकार ने केवल हरिद्वार व ऊधमसिंह नगर जिलों में 14 वें वित्त का अनुदान घटा दिया है। इससे पिछड़े देहात क्षेत्र में विकास के कार्य प्रभावित होंगे। बैठक में तय हुआ कि मंगलवार को प्रधान संगठन हरिद्वार जाकर जिला पंचायत राज अधिकारी से इस बाबत वार्ता करके विरोध जताएगा और मुख्यमंत्री तथा पंचायती राज मंत्री को ज्ञापन भी भेजेगा। बैठक में अध्यक्ष साधूराम, राकेश कुमार, शादाब हसन, प्रवीण कुमार, जुल्फिकार, प्रदीप कुमार, पवन सैनी, सुशील कुमार, राजेंद्र बबलू, मोहन सिंह, मनीष कुमार, पवन कश्यप, यशवीर सिंह, कामिल हसन, सनम आदि प्रधान मौजूद रहे।

संबंधित खबरें