DA Image
23 अक्तूबर, 2020|4:09|IST

अगली स्टोरी

गन्ना समिति के 18 सीजनल कर्मचारी धरने पर बैठे

default image

गन्ना समिति प्रबंधन ने 38 सीजनल कर्मचारियों में पचास फीसदी को ड्यूटी पर बुला लिया। इससे नाराज बाकी के 18 सीजनल कर्मचारी सुबह ही समिति कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए। उन्होंने इसे नियम विरुद्ध बताते हुए गन्ना आयुक्त को ज्ञापन भेजकर समिति का कामकाज ठप करने की चेतावनी दी है।

लक्सर की सहकारी गन्ना विकास समिति में कुल 38 सीजनल कर्मचारी काम करते हैं। पेराई सीजन खत्म होने पर आठ जून में विभाग ने इन सभी को ड्यूटी से हटा दिया था। परंतु समिति के पास परमानेंट कर्मचारी न होने के कारण कामकाज प्रभावित हो रहा था। लिहाजा विभाग ने इनमें से पचास प्रतिशत कर्मचारियों को नया पेराई सीजन शुरू होने से पहले ही ड्यूटी पर वापस बुला लिया है। इसका पता चलते ही बाकी के 18 सीजनल कर्मचारी आक्रोशित हो गए और गन्ना समिति के लक्सर कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए। उनका कहना था कि ड्यूटी को लेकर पूर्व में कर्मचारियों की विभागीय अधिकारियों से बात हुई थी। अधिकारियों ने 1 अक्तूबर से ड्यूटी पर बुलाने का भरोसा दिया था। तय हुआ था कि सभी कर्मचारियों को एक साथ ड्यूटी पर बुलवाया जाएगा। पर अब कर्मचारियों को मनमाने ढंग से ड्यूटी दी जा रही है। इससे कर्मचारियों में भेदभाव हो रहा है। बाद में कर्मचारियों ने गन्ना आयुक्त व सहायक गन्ना आयुक्त को ज्ञापन भेजकर कहा कि जब तक उन सभी को ड्यूटी पर नहीं बुलाया जाएगा, तब तक वे आंदोलन जारी रखेंगे। उन्होंने ड्यूटी न मिलने पर कार्यालय का कामकाज ठप करने की चेतावनी भी दी। धरने पर सुनील कुमार, राजसिंह, रणजीत सिंह, संजीत कुमार, अरविंद कुमार, परीक्षित कुमार, नरेंद्र कुमार ,रविपाल, राजवीर सिंह, दीपक, श्रवण कुमार, अमित कुमार, बिजेंद्र कुमार, पंकज कुमार, मनोज शर्मा, विजय कुमार, जोगेंद्र आदि मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:18 seasonal employees of sugarcane committee sit on strike