DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अतिया के पति और ससुर को पुलिस ने भेजा जेल

तीन तलाक मामले को सुप्रीम कोर्ट तक ले जाने वाली बहू को फंसाने के लिए उसके नाम से फर्जी खाता खोलकर चेक जारी करने के दस महीने पुराने मामले में पुलिस ने देर रात आरोपी पति और ससुर को गिरफ्तार कर लिया। गुरुवार को दोनों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया है। सुल्तानपुर निवासी मजहर हसन की बेटी अतिया साबरी के निकाह के तीन साल बाद पति वाजिद ने कागज पर तीन तलाक लिखकर उससे संबंध तोड़ लिए थे। तीन तलाक के मामले में अतिया की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। पिछले साल ससुरालियों ने अतिया को फंसाने के लिए पंजाब नेशनल बैंक निरंजनपुर में उसके नाम का फर्जी खाता खोलकर चेकबुक ली और अफजाल, शरीफ और समीर नामक व्यक्तियों को क्रमश: 4 लाख, 4.5 लाख व 2.5 लाख के चेक जारी कर दिए। चेक डिसऑनर होने पर उन्होंने अतिया को नोटिस दिए तो मामला अतिया के संज्ञान में आया। इसके बाद अतिया ने पति वाजिद, ससुर सईद, सास मेहराज व बैंक के शाखा प्रबंधक विनोद के अलावा चेक लेने वाले अफजाल, शरीफ व समीर के खिलाफ लक्सर कोतवाली में षड्यंत्र रचने तथा धोखाधड़ी करने की धारा में मुकदमा पंजीकृत कराया था। मामले की जांच रायसी चौकी प्रभारी ओमकांत भूषण कर रहे थे। चौकी प्रभारी ने बताया कि खाता खोलते समय जो दस्तावेज लगाए गए थे, उनकी फोरेंसिक जांच कराई गई थी। जांच रिपोर्ट अतिया के पक्ष में आने के बाद आरोपी वाजिद, सईद हसन, अफजाल, शरीफ और समीर की गिरफ्तारी के लिए कोर्ट से गैर जमानती वारंट जारी कराए गए थे। वारंट मिलने पर बुधवार रात को वाजिद और सईद हसन को गिरफ्तार कर लिया गया है। गुरुवार को उन्हें कोर्ट में पेश करके जेल भेज दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:- Police remand excessive husband and father-in-law to jail