DA Image
19 जनवरी, 2021|5:44|IST

अगली स्टोरी

सरकारी अस्पतालों में महंगा हुआ इलाज

default image

ओपीडी पर्ची 25 की बजाय 28 रुपये में बनेगी

अस्पतालों के यूजर चार्ज में दस फीसदी की वृद्धि

ऋषिकेश। हमारे संवाददाता

नए साल के आगाज के साथ ही सरकारी अस्पतालों में इलाज महंगा हो गया है। शुक्रवार से ओपीडी पर्चे में 10 फीसदी की बढ़ोतरी हो गई है। अब अस्पताल में बनने वाली ओपीडी पर्चा 25 की बजाय 28 रूपये में बनेगा। इससे मरीजों में नाराजगी भी दिखी। हालांकि पहले दिन अन्य जांच का शुल्क पुराने रेट पर लिया गया।

उत्तराखंड सरकार हर साल एक जनवरी से सरकारी अस्पतालों के शुल्क में दस फीसदी की वृद्धि करती है। शुल्क वृद्धि से मरीजों को बेहतर इलाज दिया जाता है। शुक्रवार को ऋषिकेश के सरकारी अस्पताल के पर्ची काउंटर में पहले दिन ओपीडी पर्ची का शुल्क 25 की बजाय 28 रुपये लिया गया। इससे सरकारी अस्पताल में आने वाले मरीजों और तीमारदारों को परेशानी हुई। चौदहबीघा निवासी अजय रावत ने बताया की सुबह जब ओपीडी पर्चा बनवाने के लिए काउंटर में गए तो कर्मचारी ने उनसे 28 रुपये लिये। दूरदराज से आने वाले ग्रामीण भी नाराज दिखे। सरकारी अस्पताल के सीएमएस डा. नरेंद्र तोमर ने बताया कि नए साल में इलाज महंगा हो गया है। एक जनवरी से सरकारी अस्पतालों में ओपीडी पर्चे के साथ ही मिलने वाली सभी सुविधाओं में 10 फीसदी की वृद्धि हुई है। पहले दिन अन्य जांच के दाम पुराने रेट के हिसाब से लिये गये।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Treatment in government hospitals becomes expensive