DA Image
25 फरवरी, 2020|1:27|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किंगरी का झाला घुघूती पर थिरके दर्शक

किंगरी का झाला घुघूती पर थिरके दर्शक

मुनीकीरेती पूर्णानंद खेल मैदान में आयोजित गंगा महोत्सव 2020 क्रेजी पर्यटन एवं विकास मेले के दूसरे दिन की सांस्कृतिक संध्या लोकगायक किशन महिपाल के नाम रहीं। एक से बढ़कर एक गढ़वाली गीतों की शानदार प्रस्तुति पर दर्शक भी खूब झूमे। शनिवार को क्रेजी पर्यटन एवं विकास मेले का शुभारंभ पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने सुभाष चंद्र बोस के चित्र पर माल्यार्पण कर किया। उन्होंने कहा कि मेले हमारी संस्कृति के द्योतक हैं। स्थानीय कलाकार इसे बढ़ाने का कार्य बखूबी निभा रहे हैं। इस तरह के आयोजनों से युवा पीढ़ी को प्रेरणा मिलती है। मेले के तीसरे दिन की संध्या पर गढ़वाली लोक गायक किशन महिपाल ने किंगर का झाला घुघूती, फ्योंलड़िया त्वै देखिकओंदू यू मनमा, रानीखेता रामढोला, स्याली भूंपाली, सूरया सूर आदि गढ़वाली गीतों की शानदार प्रस्तुतियों पर दर्शक जमकर झूमे। देर रात तक प्रस्तुतियों का दौर जारी रहा। मौके पर नगर पालिका अध्यक्ष रोशन रतूड़ी, क्रेजी संस्था अध्यक्ष मनीष डिमरी, सचिव राजेश्वर उनियाल, सभासद गजेंद्र सिंह, मनोज बिष्ट, सुभाष चौहान, देवस्पति बिजल्वाण, महावीर खरोला, नरेंद्र नेगी, युगल ध्यानी, प्रिया डिमरी, जगमोहन कुडियाल, प्रशांत भट्ट, धर्मेंद्र नेगी, वासुदेव डोभाल, शंकर नौटियाल, सोनू ठाकुर, जितेंद्र रावत, अजय रमोला, पंकज रावत, गौरव खंडूरी, कैलाश जोशी, परीक्षित उनियाल, पंकज सेमवाल, अतुल उनियाल, जगबीर नेगी, सतीश चमोली, सितिन शर्मा, मुकेश कंसवाल, लखन बिजल्वाण, संजय बहुगुणा आदि उपस्थित थे।इंसेट- फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता रहीं आर्कषण का केंद्रक्रेजी पर्यटन एवं विकास मेले में शुक्रवार को महेंदी, रंगोली, चार्ट प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें स्कूली छात्र-छात्राओं ने बढ़चढ़कर प्रतिभाग किया। सीनियर सिटिजन एवं महिलाओं ने कुर्सी दौड, रस्साकशी प्रतियोगिता में उत्साह के साथ हिस्सा लिया। फैंसी प्रतियोगिता में प्रतिभागियों ने रैंप में जलवा बिखेरा। फोटो कैप्शन- 26 आरएसके- 3 शनिवार को क्रेजी पर्यटन एवं विकास मेले मे प्रतियोगिता में महेंदी रचती प्रतिभागी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: The audience Snorton on Kingery ka Jhala ghoothti