ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंड ऋषिकेश9 मार्च को धूमधाम से निकलेगी शिव बारात

9 मार्च को धूमधाम से निकलेगी शिव बारात

सोमेश्वर मंदिर में महाशिवरात्रि महोत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। शिवरात्रि पर 26 फरवरी से 10 मार्च तक विभिन्न कार्यक्रम...

9 मार्च को धूमधाम से निकलेगी शिव बारात
हिन्दुस्तान टीम,रिषिकेषThu, 22 Feb 2024 06:00 PM
ऐप पर पढ़ें

सोमेश्वर मंदिर में महाशिवरात्रि महोत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। शिवरात्रि पर 26 फरवरी से 10 मार्च तक विभिन्न कार्यक्रम होंगे। जिसमें एकादश कुण्डीय होमात्मक रुद्र महायज्ञ, शिव बारात, श्याम कीर्तन आदि कार्यक्रम किए जाएंगे। गुरुवार को सोमेश्वर मंदिर में संत समिति की बैठक अध्यक्ष महंत विनय सारस्वत की अध्यक्षता में हुई। सोमेश्वर मंदिर के महंत रामेश्वर गिरी महाराज ने कहा कि विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी जन कल्याण, विश्व शांति और देश की सुख-समृद्धि के लिए प्राचीन सिद्ध पीठ श्री सोमेश्वर महादेव मंदिर में 11 कुण्डीय यज्ञ एवं महाशिवरात्रि महोत्सव मनाया जा रहा है। इस यज्ञ मंडप की परिक्रमा मात्र से ही मनुष्य के कोटि-कोटि जन्मों के पाप क्षण मात्र में ही नष्ट हो जाते हैं। मंदिर में 26 फरवरी से 7 मार्च तक एकादश कुण्डीय होमात्मक रुद्र महायज्ञ होगा। इसके बाद 8 मार्च शिवरात्रि मनाई जाएगी। 9 मार्च को शिव बारात व भंडारे का आयोजन किया जाएगा। 10 मार्च को श्री श्याम कीर्तन का आयोजन होगा।

अध्यक्ष महंत विनय सारस्वत ने कहा कि रुद्र महायज्ञ में ऋग्वेद, यजुर्वेद, सामवेद, अथर्ववेद, और शिव महापुराण का संपूर्ण पाठ भी 11 दिनों में पूर्ण किया जाएगा। कहा कि यज्ञ में पुरुष धोती-कुर्ता एवं महिलाएं साड़ी पहन कर आए। काले वस्त्रों का प्रयोग वर्जित है। संत समिति के अध्यक्ष विनय सारस्वत ने बताया कि शिवरात्रि पर सोमेश्वर महादेव मंदिर में मेले का आयोजन होगा। 9 मार्च को निकलने वाली शिव बारात मंदिर परिसर से परशुराम चौक, अंबेडकर चौक, रेलवे रोड, त्रिवेणी घाट चौराहे, चंद्रभागा पुल से भारत मंदिर होते हुए त्रिवेणी घाट पहुंचेगी। त्रिवेणी घाट पर भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह होगा। तत्पश्चात बारात वापस हरिद्वार रोड, कोहली मार्केट, पुराना बस अड्डा, बनखण्डी महादेव मंदिर होते हुए सोमेश्वर मन्दिर पहुंचेगी। मौके पर महंत हरिदास, स्वामी ध्यानदास, कोतवाल महंत धर्मदास, महंत प्रकाशानंद, स्वामी धर्मवीर दादू, महंत निर्मल दास, महंत माता श्रद्धा गिरी, महंत पूर्णानंद, महंत केवल्यानंद सरस्वती, महंत नित्यानंद गिरी, स्वामी गंगानंद, महंत स्वस्थानंद आदि उपस्थित रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें