ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंड ऋषिकेशऋषिकेश-हरिद्वार को संस्कृत नगरी के तौर पर किया जाए विकसित

ऋषिकेश-हरिद्वार को संस्कृत नगरी के तौर पर किया जाए विकसित

सरकारी कार्यालयों में संस्कृत भाषा में बोर्ड लगाने के आदेश पर उत्तराखंड संस्कृत विद्यालय प्रबंधकीय शिक्षक संघ ने खुशी जताई है। संघ ने हरिद्वार और...

ऋषिकेश-हरिद्वार को संस्कृत नगरी के तौर पर किया जाए विकसित
हिन्दुस्तान टीम,रिषिकेषSun, 04 Feb 2024 07:15 PM
ऐप पर पढ़ें

ऋषिकेश, संवाददाता।
सरकारी कार्यालयों में संस्कृत भाषा में बोर्ड लगाने के आदेश पर उत्तराखंड संस्कृत विद्यालय प्रबंधकीय शिक्षक संघ ने खुशी जताई है। संघ ने हरिद्वार और ऋषिकेश को संस्कृत नगरी के तौर पर विकसित करने का मामला उठाया।

उत्तराखंड संस्कृत विद्यालय प्रबंधकीय शिक्षक संघ के अध्यक्ष डॉ. जनार्दन प्रसाद कैरवान ने कहा कि उत्तराखंड में मुख्य सचिव के तौर पर राधा रतूड़ी की नियुक्ति हुई है। नियुक्ति के पश्चात उन्होंने संस्कृत भाषा को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से एक महत्वपूर्ण शासनादेश जारी किया है। इसके तहत संपूर्ण उत्तराखंड के हवाई अड्डों, रेलवे स्टेशनों, बस आड्डों, प्रदेश के मुख्य द्वारों तथा प्रदेश के समस्त कार्यालयों में हिंदी के साथ-साथ संस्कृत भाषा में भी नाम पटिकाएं यानी बोर्ड लगाए जाने है। पहली बार उत्तराखंड राज्य में किसी मुख्य सचिव द्वारा संस्कृत भाषा के सम्मान में ऐसा आदेश जारी किया गया है। इससे संस्कृत जगत में हर्ष का माहौल है। उन्होंने मुख्य सचिव राधा रतूड़ी का आभार जताया। उन्होंने ऋषिकेश और हरिद्वार को संस्कृत नगरी के तौर पर विकसित करने का मुद्दा भी उठाया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें