DA Image
27 अक्तूबर, 2020|6:15|IST

अगली स्टोरी

रेपकांड के दोषियों को फांसी की सजा मिले

default image

हाथरस में युवती के साथ हैवानियत से नाराज विभिन्न संगठनों ने कैंडल मार्च निकालकर नाराजगी जताई। आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की गई। बुधवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हाथरस रेप कांड के विरोध में रेलवे रोड स्थित शंकर भवन से अंबेडकर चौक तक कैंडल मार्च निकाला। उसके बाद चौक पर अंबेडकर की प्रतिमा के नीचे कैंडल जलाईं और मृतका को श्रद्धांजलि अर्पित की। पूर्व दायित्वधारी जयपाल जाटव ने कहा कि यूपी में जब से योगी सरकार बनी है, तब से दलितों पर अत्याचार बढ़े हैं। हाल ही में यूपी के हाथरस में दलित युवती के साथ कुछ दबंगों ने गैंगरेप कर उसकी गर्दन की हड्डी तोड़ डाली। इससे उस युवती की इलाज के दौरान मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने भी जानबूझकर रिपोर्ट में देरी की। इस घटना से देश के दलितों में यूपी सरकार के प्रति आक्रोश है। कहा कि इस मामले के दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए। इसके साथ ही मामले की रिपोर्ट में देरी किए जाने वाले पुलिस कर्मियों को सस्पेंड करना चाहिए। कैंडल मार्च निकालने वालों में सुनील गोस्वामी, जतिन जाटव, मंगल सिंह, अशोक विश्वकर्मा, रमेश, राम सकल साहनी, कुम कुम साहनी, विनय दूबे, राम आशीष साहनी, कुमकुम साहनी, रमेश राम, रामजी साहनी, विनोद साहनी, केसर राम आदि उपस्थित थे। उधर, स्वर्गाश्रम में वाल्मीकि समाज के लोगों ने मामले की निंदा की और मृतका को श्रद्धांजलि दी।