ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंड ऋषिकेशमानसिक स्वास्थ्य के लिए सकारात्मकता और ध्यान जरूरी

मानसिक स्वास्थ्य के लिए सकारात्मकता और ध्यान जरूरी

विश्व सिजफ्रेनिया दिवस पर शुक्रवार को हिमालयन कॉलेज ऑफ नर्सिंग की और से अच्छे मानसिक स्वास्थ्य को लेकर जागरूकता अभियान चलाया...

मानसिक स्वास्थ्य के लिए सकारात्मकता और ध्यान जरूरी
हिन्दुस्तान टीम,रिषिकेषFri, 24 May 2024 05:45 PM
ऐप पर पढ़ें

विश्व सिजफ्रेनिया दिवस पर शुक्रवार को हिमालयन कॉलेज ऑफ नर्सिंग की और से अच्छे मानसिक स्वास्थ्य को लेकर जागरूकता अभियान चलाया गया, जिसमें नर्सिंग छात्र-छात्राओं ने अस्पताल और आसपास के क्षेत्र में लोगों को मानसिक रोग के लक्षण और बचाव की जानकारी दी।
जौलीग्रांट स्थित स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय (एसआरएचयू) के नर्सिंग कॉलेज के सभागार में आयोजित सेमिनार में हिमालयन अस्पताल के मनोचिकित्सक डॉ. प्रियरंजन अविनाश ने कहा कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए सकारात्मक सोच और जीवनशैली में योग ध्यान से जुड़ना आवश्यक है। सबसे ज्यादा जरूरी है, सही समय पर रोग की पहचान और जल्द से जल्द इलाज की शुरूआत की जाए। नर्सिंग कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. संचिता पुगाजंडी ने कहा सिजोफ्रेनिया एक गंभीर जटिल मानसिक बीमारी है। यह रोग रोगी की कार्यक्षमता को प्रभावित करती है। मेंटल हेल्थ नर्सिंग की विभागाध्यक्ष डॉ. ग्रेस मेडोना सिंह ने कहा कि यदि परिवार मे कोई इस बीमारी से ग्रस्त हैं तो बच्चे के सिजोफ्रेनिक होने की संभावना कई गुना बढ़ जाती है। दिमाग में हार्मोनल असंतुलन भी इसकी वजह हो सकती है। स्ट्रेस, पारिवारिक या तीव्र सामाजिक दबाव भी किसी व्यक्ति को इस बीमारी की ओर धकेल सकती है। नर्सिंग छात्राओं ने ओपीडी में आने वाले लोगों को पोस्टर प्रदर्शनी के माध्यम से सिजोफ्रेनिया बीमारी के बारे में जानकारी दी। इसके अलावा आर्यन विद्या मंदिर में सिजोफ्रेनिया जागरूकता अभियान चलाया गया। जिसमें बीएससी, एमएससी व पोस्ट बेसिक नर्सिंग के छात्र-छात्राओं ने स्कूल के 42 बच्चों को नाटक के माध्यम से बीमारी के लक्ष्ण बताये। मौके पर डॉ. ग्रेस मेडोना सिंह, जयपाल सिंह नेगी, निकिता भट्ट, हिना नेगी, अतुल भिदोला आदि उपस्थित रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।