DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नगर निगम के आउटसोर्स कर्मियों को तीन माह से मानदेय नहीं

नगर निगम ऋषिकेश के करीब 105 आउटसोर्स कर्मियों को तीन माह से मानदेय का भुगतान नहीं हुआ है। मानदेय न मिलने से कर्मचारी परेशान है। उन्होंने नगर निगम आयुक्त से मानदेय दिलवाने की गुहार लगाई है। निगम के अधिकारी ठेकेदार के समय पर भविष्य निधि जमा नहीं करने को भुगतान नहीं होने का कारण बता रहे हैं।

नगर निगम में नियमानुसार ठेकेदार को आउटसोर्सिंग कर्मचारियों की भविष्य निधि प्रत्येक माह सरकारी खाते में जमा करना अनिवार्य है। लेकिन वह इसकी अनदेखी करता रहा। जिससे 105 आउटसोर्स कर्मी परेशान है। मुख्य नगर आयुक्त ने चार महीने पहले मामले का संज्ञान लेकर आउसोर्सिंग ठेकेदार को तलब किया। सख्त हिदायत दी कि जब तक सभी आउटसोर्सिंग कर्मियों की भविष्य निधि जमा नहीं हो जाती मानदेय का भुगतान नहीं होगा। ठेकेदार ने मार्च तक कुछ आउटसोर्सिंग कर्मियों की भविष्य निधि जमा करने की रिपोर्ट निगम प्रशासन के सामने पेश की। निगम प्रशासन ने ठेकेदार को हिदायत दी कि जब तक सभी आउटसोर्सिंग कर्मचारियों की भविष्य निधि जमा नहीं होगी भुगतान रुका रहेगा। यही वजह है निगम के आउटसोर्सिंग कर्मचारी तीन महीने से मानदेय भुगतान की बाट जोह रहे हैं। नाम ना छापने की शर्त पर आउटसोर्सिंग कर्मी ने आरोप लगाया कि मानदेय की मांग करने पर निगम प्रशासन उन्हें हटाने की धमकी दे रहा है। चेताया कि जल्द कार्रवाई नहीं हुई तो कामकाज ठप कर आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Municipal corporation outsourced employees from three months Not honorable