अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आस्था : ऋषिकेश में विदेशी साधकों ने जाना महाशिवरात्रि का महत्व

योगालय आश्रम वैदिक फाउंडेशन हिमालय में विदेशी साधकों ने शिवरात्रि के महत्व को जाना। इस दौरान भगवान भोलेनाथ का अभिषेक भी किया गया। शिवरात्रि के अवसर पर योगालय आश्रम वैदिक फाउंडेशन हिमालय में विधि विधान के साथ मध्य रात्रि में भगवान भोलेनाथ का अभिषेक किया गया।

पंडित रवि शास्त्री ने विदेशी श्रद्धालुओं को शिवरात्रि के महत्व के बारे में बताया। कहा कि शिवरात्रि में भगवान शिव की पूजा अर्चना से सुख, समृद्धि, शांत की प्राप्ति होती है। इस दिन भगवान शिव की पूजा अर्चना का विशेष महत्व है। पूजा अर्चना कर मनुष्य अपने अंदर के सभी विकारों को भगवान शिव के समक्ष समर्पित कर देता है। कहा कि हिंदू धर्म एक ऐसा धर्म है जो हमें आपस में जोड़कर रखता है और हमें धर्म के मार्ग पर चलना सिखाता है। इस दौरान विदेशी श्रद्धालुओं ने भी भगवान शिव की पूजा अर्चना की और जलाभिषेक किया। मौके पर पंडित सतीश घिल्डियाल, दीपक बधानी, स्वामी तारा शक्ति चैतन्य, गौरी चैतन्य, वानी, चैतली चैतन्य, गुरुमंडल, पवित्रता चैतन्य, रक्षाकरी, दीक्षा, देवी करतार, हरि करतार सिंह, आशीष आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Importance of Shivratri by foreign seekers