ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंड ऋषिकेशचारधाम यात्रा में वाहनों का अवैध संचालन बंद किया जाए

चारधाम यात्रा में वाहनों का अवैध संचालन बंद किया जाए

टीजीएमओसी एवं यातायात कंपनी के पदाधिकारियों की बुधवार को बैठक हुई। बैठक में दोनों कंपनियों ने चारधाम यात्रा 2024 में एकजुट होकर रोटेशन के माध्यम से...

चारधाम यात्रा में वाहनों का अवैध संचालन बंद किया जाए
हिन्दुस्तान टीम,रिषिकेषWed, 21 Feb 2024 05:00 PM
ऐप पर पढ़ें

टीजीएमओसी एवं यातायात कंपनी के पदाधिकारियों की बुधवार को बैठक हुई। बैठक में दोनों कंपनियों ने चारधाम यात्रा 2024 में एकजुट होकर रोटेशन के माध्यम से बसों के संचालन का निर्णय लिया। साथ ही यात्रा में हरिद्वार से अवैध बसों के संचालन पर रोक लगाने की मांग की।
बुधवार को यात्रा बस अड्डे के समीप एक कार्यालय में टीजीएमओसी एवं यातायात कंपनी के सचालक मंडल के पदाधिकारियों की बैठक में चारधाम यात्रा को लेकर विस्तार से चर्चा की गई। उसके बाद सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि आगामी चारधाम यात्रा 2024 को लेकर दोनों कंपनियां एक ही रोटेशन से संचालित होंगी। इसके लिए दोनो कंपनियों की एक ही लॉटरी प्रक्रिया होगी। टीजीएमओसी के अध्यक्ष जितेन्द्र सिंह नेगी ने कहा कि जिन वाहनों के पिछले दो वर्षों से कम्पनी में कमीशन नहीं जमा है, उन सभी वाहनों को कम्पनी व्यवस्था से बाहर किया गया है। विश्वनाथ सेवा की एक सेवा जो देहरादून से रजाखेत जाएगी, उसे एक मार्च से प्रारम्भ किया जाएगा, जबकि घनशाली सेवा को घनशाली से जखोली ब्लाक तक बढ़ाया गया है। कहा कि जब तक हरिद्वार से अवैध संचालन बन्द नहीं होगा और वाहन स्वामियों की अन्य समस्याओं का निराकरण नहीं होगा, परिवहन सस्थाएं चारधाम यात्रा की बैठक में सम्मिलित नहीं होंगी। मौके पर टीजीएमओसी के संचालक कुंवर सिंह नेगी, गजपाल सिंह रावत, रामचन्द्र सुयाल, सचिव हिम्मत सिंह रावत, यातायात कम्पनी के निवर्तमान अध्यक्ष मनोज ध्यानी, संचालक मनोहर सिह रौतेला, योगेश उनियाल, मनोज आर्य, सचिव जसपाल भण्डारी, प्यारे लाल जुगरान आदि उपस्थित रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें