DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

27 अगस्त से अनिश्चिकालीन हड़ताल को चेताया

27 अगस्त से अनिश्चिकालीन हड़ताल
 को चेताया

उत्तराखंड कार्मिक, शिक्षक, आउटसोर्स संयुक्त मोर्चा ने सातवें वेतनमान का लाभ, संविदा कर्मियों को नियमित, 2005 के बाद भर्ती सभी कर्मचारियों के लिए पेंशन का प्रावधान समेत 13 सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलन की रणनीति तय की है। लंबित मांग के समर्थन में 23 से 25 अगस्त तक कार्यबहिष्कार का ऐलान किया है। सकारात्मक कार्रवाई नहीं होने पर 27 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी दी है।सोमवार को नगर निगम के सभागार में उत्तराखंड कार्मिक, शिक्षक, आउटसोर्स संयुक्त मोर्चा की बैठक मोर्चा संयोजक ठाकुर प्रहलाद सिंह की अध्यक्षता में हुई। बैठक में लंबित मांगों पर चर्चा करते हुए प्रदेश सरकार पर कर्मचारियों के हितों की अनदेखी का आरोप लगाया। समस्या के समाधान के लिए सर्वसम्मति से आंदोलन की रणनीति पर विचार विमर्श किया गया। सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि मांगों के समर्थन में सभी जिला मुख्यालयों में 3 अगस्त को कैंडिल मार्च, 7 अगस्त को मशाल जुलुस और 17 अगस्त को देहरादून में महारैली होगी। बावजूद इसके सरकार ने मांगों पर गौर नहीं किया तो मोर्चा से जुड़े सभी विभागों के कर्मचारी 23 से 25 अगस्त तक कार्यबहिष्कार पर रहेंगे। 27 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे। जिसकी जिम्मेदारी शासन और सरकार की होगी।बैठक में मोर्चा की ऋषिकेश शाखा गठित कर रविंद्र सिंह पाल को मोर्चा अध्यक्ष का दायित्व सौंपा गया। मौके पर राजकिशोर, निर्मल रांगड़, डीडी सिंह, एसपी रनाकोटी, प्रवीन भंडारी, कमल किशोर थपलियाल, अमन कुमार, पवन कुमार, अजय वर्मा, एससी गुप्ता, ज्योतिराम पेटवाल, विनीत शर्मा, बुद्ध प्रकाश, आशीष कोठारी, बीएम जुयाल, रणवीर सिंह रावत, केएस रावत, एमएल सेमवाल, शेखरानंद, प्रदीप पाल, राजकुमार, दाताराम रयाल, देवेंद्र दत्त पैन्यूली, भुवन सेमवाल, देवेंद्र प्रसाद डिमरी, विजेंद्र बिष्ट आदि थे

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:I do not accept the demand, from 27 to the unspecified strike