DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गंगा का जलस्तर बढ़ा, दहशत में रहे तट पर बसे लोग

झमाझम बारिश राहत के साथ मुसीबत लेकर आई। बारिश से जहां एक ओर पारा लुढ़क गया, वहीं दूसरी ओर शहर की सड़कें तालाब में तब्दील हो गई। बरसाती पानी सड़कों पर बहने से वाहन चालकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इससे पैदल राहगीर परेशान रहे। उधर गंगा और सौंग भी दिनभर उफान पर रही। जिससे तटीय इलाकों में बसे लोग दहशत में रहे।

झमाझम बारिश ने जहां गर्मी से राहत दिलाई, वहीं शहर के गली मोहल्ले तालाब में तब्दील हो गये। नालियां चौक होने से बरसाती पानी सड़क पर बहता रहा। इससे वाहन चालकों को दिक्कतें आई। कई दुपहिया चालक गड्ढों में फंसकर चोटिल भी हुए। बरसाती पानी की निकासी न होने से शहर के अधिकांश मार्ग तालाब में तब्दील हो जाते है। पैदल यात्रियों का सड़क पर चलना मुसीबत बना है। अधिकांश मार्गों पर बरसाती पानी में बहकर आये कूड़े के ढेर जमा हो गये है। हरिद्वार मार्ग, शांतिनगर, पुरानी सब्जी मंडी, घाट रोड, रेलवे रोड, पुष्कर मंदिर मार्ग, कैलाश गेट, दून मार्ग, प्रगति विहार, चन्द्रभागा, मायाकुंड मार्ग पर हालात खराब है। उधर शुक्रवार को गंगा, सौंग, चन्द्रभागा उफान पर रही। जलस्तर दिनभर घटता-बढ़ता रहा। जलस्तर बढ़ने पर चन्द्रभागा व गौहरीमाफी के लोगों को सतर्क किया गया है। एसडीएम प्रेमलाल ने बताया कि पर्वतीय क्षेत्र में बारिश से गंगा व सहायक नदियां उफान पर है। इसलिये तटीय इलाके में बसे लोगों को अलर्ट किया गया है। उधर, दोपहर के समय बीन नदी उफनने से गंगा भोगपुर के लोगों को परेशानी उठानी पड़ी। करीब एक घंटे तक संपर्क कटा रहा। शाम चार बजे बाद जलस्तर घटने पर राहत मिली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ganga water level rise people living in panic