DA Image
22 अक्तूबर, 2020|12:59|IST

अगली स्टोरी

पहले कोरोना टेस्ट होगा, फिर बनेगा ओपीडी पर्चा

default image

मामूली बुखार हो या फिर पेट दर्द की शिकायत और इलाज के लिए सरकारी अस्पताल आ रहे हैं, पहले कोरोना टेस्ट कराना होगा। तभी ओपीडी का पर्चा बनेगा। बिना पर्चे के डाक्टर नहीं देखेंगे। कोविड जांच सुबह 10 से दोपहर 3 बजे तक होगी।गुरुवार से सरकारी अस्पताल में कोरोना आरटीपीसीआर जांच अनिवार्य हो गई है। यानी की ओपीडी में आने वाले प्रत्येक मरीज को कोरोना जांच करानी होगी, तभी उसे चिकित्सीय परामर्श मिलेगा।जांच के लिए लोगों को लंबा इंतजार नहीं करना पड़े, इसके लिए प्रशासन ने स्वास्थ्य कर्मियों की दो टीमें बनायी है। प्रत्येक टीम के प्रभारी तहसील के संग्रह अमीन बीर सिंह बिष्ट और विनोद तिवाड़ी हैं, जो प्रतिदिन की रिपोर्ट 3 बजे के बाद उपजिलाधिकारी ऋषिकेश को देंगे। पहले दिन स्वास्थ्य कर्मी भूपेंद्र फर्सवाण, धीरजपाल, राहुल, अंकित, विनय नेगी और वैशाली ने ओपीडी में आने वाले 135 मरीजों की जांच की। एसडीएम वरूण चौधरी ने मौका मुआयना कर व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने लोगों को कोविड जांच के प्रति जागरूक किया।मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. एनएस तोमर बताया कि ऋषिकेश से प्रतिदिन 120 लोगों की कोरोना जांच का लक्ष्य है। ओपीडी में जांच अनिवार्य होने से लक्ष्य पूरा होगा और संक्रमण का फैलाव रुकेगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:First corona test will be done then OPD form will be made