DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाढ़ सुरक्षा कार्य करवाने की मांग को क्रमिक अनशन जारी

गौहरी माफी में बाढ़ सुरक्षा कार्य की मांग को लेकर ग्रामीणों का धरना 55वें व क्रमिक अनशन 26वें दिन भी जारी रहा। इस दौरान ग्रामीणों ने प्रदेश सरकार व जनप्रतिनिधियों पर क्षेत्रवासियों की उपेक्षा का आरोप लगाया। मंगलवार को देवभूमि जन संघर्ष मोर्चा के तत्वावधान में गौहरी-माफी में सौंग नदी किनारे ग्रामीणों ने 55वें दिन धरना प्रदर्शन व 26 वें दिन क्रमिक अनशन किया। मंगलवार को विमला रावत, सीता रावत, पुष्पा, दुर्गा मिश्रा क्रमिक अनशन में बैठे। पूर्व बीडीसी मेंबर निर्मला नौटियाल ने कहा कि प्रत्येक वर्ष बरसात के समय बाढ़ आने से क्षेत्रवासियों को जानमाल की हानि होती है। कुछ वर्ष पूर्व यहां बाढ़ सुरक्षा कार्य के तहत बांध बनवाने का कार्य शुरू किया गया, लेकिन फिर कुछ समय बाद ही कार्य को बंद कर दिया गया। इससे आज तक क्षेत्र में बाढ़ से राहत नहीं मिल पाई है। ग्रामीणों के खेत, घर बाढ़ में डूब जाते हैं। कहा कि बीते 55 दिनों से ग्रामीण आंदोलनरत हैं लेकिन सरकार और जनप्रतिनिधियों द्वारा ग्रामीणों की उपेक्षा की जा रही है। धरने में बैठने वालों में नारायण सिंह कैंतुरा, सूरत सिंह नेगी, मूर्तिराम, नत्थी सिंह कंडियाल, देव सिंह कैंतुरा, लक्षमीचंद चौहान, रामचन्द्र जोशी, अमित कुकरेती, महिपाल सिंह रांगड़, धनी राम जोशी, रामेश्वर रतूड़ी, उत्तम सिंह रावत, दिनेश रावत, मदन सिंह बिष्ट, रोहित नौटियाल, मुरारी लाल, रामचंद्र जोशी, पदम सिंह रावत, रमेश कंडारी, अमित कुकरेती, खुशीराम जोशी, अतर सिंह कलूड़ा, संजय भंडारी, नीतिश उनियाल, दिनेश रावत, नवीन चौहान, रायसिंह पुंडीर, धनपाल राणा, उत्तम सिंह रावत, गैणा सिंह कंडारी, देवानंद उनियाल, वीर सिंह कंडारी, जमुना देवी, राम प्यारी देवी, विमला राणा, सुदंरा जोशी आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Demand for flood protection work