corporation administration Intellectualism Sacrificed - निगम प्रशासन की बुद्धि-शुद्धि को यज्ञ किया DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निगम प्रशासन की बुद्धि-शुद्धि को यज्ञ किया

निगम प्रशासन की बुद्धि-शुद्धि को यज्ञ किया

1 / 2राष्ट्रीय फेरी नीति लागू करने और तहबाजारी ठेके के विरोध में लघु व्यापारियों ने नौवें दिन भी धरना जारी रखा। मंगलवार को व्यापारियों ने निगम प्रशासन की बुद्धि-शुद्धि के लिए हवन यज्ञ किया। व्यापारियों ने...

निगम प्रशासन की बुद्धि-शुद्धि को यज्ञ किया

2 / 2राष्ट्रीय फेरी नीति लागू करने और तहबाजारी ठेके के विरोध में लघु व्यापारियों ने नौवें दिन भी धरना जारी रखा। मंगलवार को व्यापारियों ने निगम प्रशासन की बुद्धि-शुद्धि के लिए हवन यज्ञ किया। व्यापारियों ने...

PreviousNext

राष्ट्रीय फेरी नीति लागू करने और तहबाजारी ठेके के विरोध में लघु व्यापारियों ने नौवें दिन भी धरना जारी रखा। मंगलवार को व्यापारियों ने निगम प्रशासन की बुद्धि-शुद्धि के लिए हवन यज्ञ किया। व्यापारियों ने ऋषिकेश में नगर निगम से राष्ट्रीय फेरी नीति लागू करने व तहबाजारी का ठेका निरस्त करने की मांग की।

मंगलवार को जनसरोकार मोर्चा ऋषिकेश, जन विकास मंच और फुटकर फल एवं सब्जी विक्रेता समिति और लघु व्यापार एसोसिएशन से जुड़े फुटकर व्यापारियों ने नगर निगम परिसर के बाहर प्रदर्शन दिया। धरने से पूर्व आंदोलनकारियों ने त्रिवेणी घाट पहुंचकर निगम प्रशासन की बुद्धि शुद्धि के लिए हवन यज्ञ किया। मोर्चा के संयोजक रामकृपाल गौतम ने कहा कि नगर निगम हिटलरशाही कर लघु व्यापारियों को परेशान कर रहा है। इस हवन के माध्यम से भगवान से प्रार्थना की गई है कि ऋषिकेश निगम प्रशासक को सद्बुद्धि प्रदान करे। पूर्व पालिकाध्यक्ष दीप शर्मा ने कहा कि उत्तराखंड के किसी भी नगर निगम में तहबाजारी का प्रावधान नहीं है। बावजूद ऋषिकेश में जबरदस्ती इसे लागू कर लघु व्यापारियों का उत्पीड़न किया जा रहा है। उत्तराखंड जन विकास मंच के अध्यक्ष आशुतोष शर्मा ने कहा कि निगम प्रशासन पूरी तरह से हिटलरशाही कर रहा है। विरोध के बावजूद कोई सुनवाई करने की कोशिश नहीं की जा रही है और उल्टा आंदोलनकारियों का भी उत्पीड़न किया जा रहा है। कहा कि नगर निगम ने जल्द ही राष्ट्रीय फेरी नीति लागू कर तहबाजारी निरस्त नहीं की तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। मौके पर पूर्व सभासद राहुल शर्मा, फुटकर फल व सब्जी विक्रेता समिति के अध्यक्ष राजू गुप्ता, आदेश शर्मा, पूर्व बीडीसी सदस्य वीर सिंह नेगी, राहुल पाल, प्रवीण सिंह, अनूप गुप्ता, श्रवण गुप्ता, विजय जायसवाल, राकेश रावत, संदीप नौटियाल, गुरमुख सिंह, अमित गुप्ता, कार्तिक, हरिनारायण, सौरव गुप्ता, सुनील राजभर, अजय कुमार आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:corporation administration Intellectualism Sacrificed