ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंड ऋषिकेश50 फस्ट रिस्पांडर्स ट्रेनर्स को बांटे प्रमाण पत्र

50 फस्ट रिस्पांडर्स ट्रेनर्स को बांटे प्रमाण पत्र

एम्स ऋषिकेश और रोड ट्रांसपोर्ट विभाग की संयुक्त पहल पर प्रदेश के सभी 13 जिलों में फस्ट रिस्पांडर्स ट्रेनिंग प्रोग्राम आयोजित किया जा रहा...

50 फस्ट रिस्पांडर्स ट्रेनर्स को बांटे प्रमाण पत्र
हिन्दुस्तान टीम,रिषिकेषWed, 21 Feb 2024 05:45 PM
ऐप पर पढ़ें

एम्स ऋषिकेश और रोड ट्रांसपोर्ट विभाग की संयुक्त पहल पर प्रदेश के सभी 13 जिलों में फस्ट रिस्पांडर्स ट्रेनिंग प्रोग्राम आयोजित किया जा रहा है। प्रथम चरण में 50 लोगों को प्रशिक्षित किया गया। बताया गया कि प्रशिक्षित टीम के सदस्य राज्य के विभिन्न हिस्सों में सड़क दुर्घटनाओं की स्थिति में ट्रॉमा पेशेंट्स के लिए मददगार साबित होंगे।
बुधवार को परिसर में आयोजित कार्यक्रम में एम्स ऋषिकेश की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर मीनू सिंह ने कहा कि संस्थान रोड ट्रांसपोर्ट विभाग के साथ मिलकर प्रदेश के सभी जिलों में फस्ट रिस्पांडर्स ट्रेनिंग प्रोग्राम चला रहा है, जिसके तहत प्रथम चरण में 50 फस्ट रिस्पांडर्स ट्रेनर्स तैयार किए गए हैं, जो कि किसी भी दुर्घटना की स्थिति में ट्रॉमा मरीजों को सुरक्षित अस्पताल तक पहुंचाने और ऐसी घटनाओं में डेथ रेट को कम करने में सहायक बनेंगे।

एम्स के ट्रामा सर्जन डॉ. मधुर उनियाल ने कहा कि प्रशिक्षित टीम के सदस्य राज्य के विभिन्न हिस्सों में सड़क दुर्घटनाओं की स्थिति में ट्रॉमा पेशेंट्स के लिए मददगार साबित होंगे। प्रत्येक जिले में 50 फस्ट रिस्पांडर्स ट्रेनर्स तैयार किए जाएंगे। हमारा प्रयास इंस्टीट्यूट नहीं पब्लिक बेस्ड होना चाहिए, जिससे स्वास्थ्य जागरुकता के साथ साथ ट्रॉमा के मामलों में आमजन को महत्वपूर्ण जानकारियां दी जा सके। संस्थान राज्य सरकार और संबंधित विभागों, संस्थाओं के साथ मिलकर इस मुहिम को आगे बढ़ाएगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें