DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी

बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी

1 / 5डेढ़ लाख शिवभक्तों ने नीलकंठ में चढ़ाया गंगाजल बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही...

बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी

2 / 5डेढ़ लाख शिवभक्तों ने नीलकंठ में चढ़ाया गंगाजल बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही...

बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी

3 / 5डेढ़ लाख शिवभक्तों ने नीलकंठ में चढ़ाया गंगाजल बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही...

बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी

4 / 5डेढ़ लाख शिवभक्तों ने नीलकंठ में चढ़ाया गंगाजल बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही...

बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी

5 / 5डेढ़ लाख शिवभक्तों ने नीलकंठ में चढ़ाया गंगाजल बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही तीर्थनगरी बम भोले के जयकारों से गूंज रही...

PreviousNext

श्रावण में कांवड़ यात्रा पर कांवड़ियों की भीड़ बढ़ती जा रही है। डेढ़ लाख शिवभक्तों ने नीलकंठ महादेव मंदिर में जलाभिषेक किया। पहले सोमवार पर नीलकंठ महादेव का मध्य रात्रि में विशेष पंचामृत से अभिषेक किया गया। इसलिये रात्रि 12 से 1 बजे तक मंदिर में जलाभिषेक नहीं हो सका। पंचक लगने से कांवड़ियों की संख्या कम रही।सोमवार पर जलाभिषेक को कांवड़ियों की भीड़ में तेजी से इजाफा हो रहा है। सोमवार के जलाभिषेक को रविवार शाम ही स्वर्गाश्रम, लक्ष्मणझूला व ऋषिकेश के आश्रम, धर्मशालाएं व मैदान कांवड़ियों से अट गये। हाईवे पर कांवड़ियों के आने-जाने का सिलसिला तड़के से ही चलता रहा। पहले सोमवार को डेढ़ लाख शिवभक्तों ने नीलकंठ महादेव मंदिर में जलाभिषेक किया। भीड़ बढ़ने पर स्वर्गाश्रम-रामझूला के बीच जाम लगता रहा। जिस पर पुलिस को वाहन बाईपास से ऋषिकेश भेजे। मध्य रात्रि 12 से 1 बजे तक मंदिर में जलाभिषेक नहीं किया गया। इस दौरान नीलकंठ महादेव का विशेष पंच अमृत से अभिषेक करने के साथ आरती की गई। एसएसपी पौड़ी जगतराम जोशी ने बताया कि सोमवार को डेढ़ लाख कांवड़ियों ने जलाभिषेक किया। भीड़ का दबा व कम होने पर रूट डायवर्ट नहीं किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 1.5 lakh devotees donated Ganga water in Nilkanth