DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › रामनगर › छात्रवृत्ति घोटाले के आरोपी की अंतरिम जमानत खारिज
रामनगर

छात्रवृत्ति घोटाले के आरोपी की अंतरिम जमानत खारिज

हिन्दुस्तान टीम,रामनगरPublished By: Newswrap
Fri, 30 Jul 2021 06:00 PM
छात्रवृत्ति घोटाले के आरोपी की अंतरिम जमानत खारिज

नैनीताल। संवाददाता

प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा विशेष न्यायाधीश भ्रष्टाचार निवारण प्रीतू शर्मा की अदालत ने छात्रवृत्ति घोटाले के आरोपी अनुराग शंखधर की अंतरिम जमानत अर्जी को खारिज कर दी है।

अभियोजन पक्ष की ओर से जिला शासकीय अधिवक्ता सुशील शर्मा ने अदालत को बताया कि अनुराग शंखधर निवासी विष्णु विहार देहरादून पर गणपति कॉलेज ऑफ एजुकेशन फरीदाबाद हरियाणा में रहते हुए वहां अध्ययनरत विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति में अनियमितता का आरोप है। इसमें बिचौलिए द्वारा कूटरचित कर फर्जी दस्तावेज तैयार कर संस्था के स्वामी व आरोपी ने सुनियोजित तरीके से सरकार के सात लाख सत्तावन हजार आठ सौ रुपये का दुरुपयोग किया। धनराशि पात्र को न देकर इसका फर्जी तरीके निकाल ली। अंतरिम जमानत याचिका का विरोध करते हुए डीजीसी ने न्यायालय को बताया कि आरोपी पर कृष्णा कॉलेज आफ ला बिजनौर उत्तर प्रदेश में भी छात्रों की छात्रवृत्ति पांच लाख इक्यावन हजार छह सौ पचास के सरकारी धन का दुरुपयोग का आरोप है। जबकि जिनके नाम से छात्रवृत्ति वसूली गई। पुलिस पड़ताल में बताया कि उन्होंने संबंधित विद्यालय में न कभी अध्ययन किया और न ही छात्रवृ्त्ति प्राप्त की। अधिवक्ता के तर्कों के बाद कोर्ट ने अंतरिम जमानत अर्जी को खारिज कर दिया।

संबंधित खबरें