DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पिथौरागढ़ में नवरात्र पर मंदिरों में हुई मां कालरात्रि की पूजा

पिथौरागढ़ में नवरात्र पर मंदिरों में हुई मां कालरात्रि की पूजा

पिथौरागढ़ जिले के मंदिरों में नवरात्र पर मंदिरों में आदि शक्ति दुर्गा के सातवें रूप मां कालरात्रि की पूजा की गई। महिलाओं ने विधि विधान से पूजा कर आशीर्वाद दिया। शुक्रवार को जिले के मुख्य मंदिरों में मां कालरात्रि की पूजा की गई। सुबह से ही मां के दर्शन के लिए मंदिरों में भीड़ लगी रही। भक्तों ने मंदिरों में मां की महिमा का गुणगान किया। दिनभर मां के जयकारों और शंख ध्वनियों से मंदिर गूंजते रहे। नगर के मां भगवती मंदिर पौण, मां कौशल्या हुड़ेती, भगवती मंदिर पितरौटा, शिवालय मंदिर पुरानी बाजार, घंटाकरण, मां उल्का मंदिर, मां चंडिका, मां कामाख्या, मां ध्वज मंदिर में भजन कीर्तन का दौर चलते रहे। पंडित पूरन जोशी ने बताया कि मां कालरात्रि अपने भक्तों को संकट से बचाने तथा स्मरण मात्र से अनेक प्रकार के भय को दूर करने वाली बाधाओं को हरने वाली है। हर प्रकार से भक्त जनों का कल्याण करती है। इनका रूप बड़ा ही भयानक दिखाई देता है। किन्तु यह परम कल्याण प्रद है। गंगोलीहाट के महाकाली मंदिर में भी भक्त मां के दर्शन के लिए सुबह से लाइन में खड़े रहे। मां कोटगाड़ी मंदिर पांखू में लोगों न्याय की देवी के दर्शन कर आशीर्वाद लिया।

गुरना में विभिन्न संगठनों ने कराया भंडारा

पिथौरागढ़। जिला मुख्यालय के प्रवेश द्वार से 7 किमी दूर गुरना मंदिर में विभिन्न संगठनों के लोगों ने भंडारे का आयोजन किया। दिल्ली, हल्द्वानी, टनकपुर, पिथौरागढ़ आने वाली यात्रियों को प्रसाद बांटा गया। इस दौरान नरेंद्र बिष्ट, भुवन पांडे, अंकुर कोहली, ललित जोशी, पप्पू बिष्ट, हिमांशु पंत, आशीष पाठक मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Worship of mother kalaratri in temples in Navaratri