DA Image
8 मार्च, 2021|3:00|IST

अगली स्टोरी

धारचूला में भारत-नेपाल सीमा खोलने को व्यापारियों ने किया प्रदर्शन

धारचूला में भारत-नेपाल सीमा खोलने को व्यापारियों ने किया प्रदर्शन

कोरोना के कारण सात माह से बंद भारत-नेपाल अंतरराष्ट्रीय सीमा बंद होने से व्यापारी आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। व्यापारियों का कहना है कि कारोबार ठप होने से वे कर्ज में डूब गए हैं। परिवार का भरण-पोषण करना भी मुश्किल हो गया है। बुधवार को व्यापार संघ अध्यक्ष भूपेंद्र थापा के नेतृत्व में व्यापारी नेपाल रोड में एकत्र हुए। इस दौरान उन्होंने सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने व्यापार संघ अध्यक्ष थापा ने कहा कि नेपाल रोड में 200 से अधिक व्यापारी कारोबार करते हैं। वहां का कारोबार नेपाली नागरिकों पर ही निर्भर है। देश में लॉकडाउन के बाद से सीमा बंद है। इससे कारोबार चौपट हो गया है। व्यापारी सीबू खोलिया ने कहा कि सीमा बंद होने से व्यापार ठप हो गया है। दुकान का किराया व बैंक की किश्त भी अब तक नहीं दी है। दिन पर दिन उधारी बढ़ती जा रही है। ऐसे ही स्थिति रही तो दुकान बेचकर जाना पड़ेगा। व्यापारियों ने सरकार से पूर्व की तरह ही झूलापुल खोलने की मांग की है। कहा कि अगर सरकार पूरे दिन झूलापुल नहीं खोल सकती तो कम से कम दो से तीन घंटे रोजाना पुल खोला जाए। ताकि लोग खरीदारी को एक से दूसरे देश के लिए आवाजाही कर सके। प्रदर्शन करने वालों में उपाध्यक्ष प्रकाश गुंज्याल, महासचिव नवीन खर्कवाल, गोविंद जोशी, जिशान आलम, खुशाल धामी सहित कई लोग मौजूद रहे।

एक घंटे तक नहीं खोलने दिया पुल

धारचूला। नेपाली नागरिकों के लिए बुधवार को भारत-नेपाल सीमा खोली जानी थी, लेकिन व्यापारियों के विरोध के कारण झूलापुल निर्धारित समय पर नहीं खोला। नियमित झूलापुल खोलने को लेकर एक घंटे तक व्यापारी अड़े रहे। इस दौरान मौके पर पहुंचे कोतवाल बिजेंद्र शाह ने किसी तरह व्यापारी को समझाया और झूलापुल खुलवाया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Traders demonstrate to open Indo-Nepal border in Dharchula