DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीमांत के लाल ने नेपाल के माउंट धौलागिरी में फहराया भारतीय तिरंगा

सीमांत के लाल रतन सिंह सोनाल ने नेपाल के माउंट धौलागिरी में भारत का तिरंगा फहराया है। उनकी इस उपलब्धि पर सीमांत में खुशी का माहौल है। इससे पूर्व सोनाल वर्ष 2012 में माउंट एवरेस्ट भी फतह कर चुके हैं। दारमा घाटी के सोन गांव निवासी रतन वर्तमान में आईटीबीपी मिर्थी में द्वितीय कमान अधिकारी के पद पर तैनात हैं। नेपाल का धौलागिरी पर्वत 8167 मीटर की ऊंचाई में है। इस पर्वत पर पहुंचना बेहद मुश्किल भरा काम है। सोनाल ने आईटीबीपी के एक्सपेडिशन टीम के साथ यह सफलता प्राप्त की है। टीम में डिप्टी लीडर के तौर पर शामिल रतन सिंह सोनाल ने फोन पर बताया उन्होंने 19 मई को धौलागिरी पर्वत फतह किया। कहा कि पर्वतारोही टीम में 6 सदस्य थे। सभी टीम के सदस्य जून प्रथम सप्ताह में काठमांडू से दिल्ली पहुंचेंगे। इन्होंने जताई है खुशी दारमा सामाजिक एवं सांस्कृतिक विकास समिति के महासचिव फली सिंह दताल, रं कल्याण संस्था के अध्यक्ष कृष्णा गर्ब्याल, संरक्षक अशोक नबियाल, महासचिव देवकृष्ण फकलियाल, राम सिंह ह्याकी, नगरपालिका अध्यक्ष दशरथी खैर सहित कई लोगों ने सोनाल की इस उपलब्धि पर खुशी जताई है। पर्वतारोहण में हैं अपार संभावनाएं धारचूला। सोनाल ने कहा है कि सीमांत के पर्वतीय क्षेत्रों के पर्वतारोहण की अपार संभावनाएं है। कहा कि प्रशिक्षण के बाद युवा वर्ग नया लक्ष्य हासिल कर सकता है। इन पर्वतों को भी कर चुके हैं सोनाल फतह वर्ष 2005 में कुवेर, 2006 में नारायण, 2011 संतोपथ, 2012 एवरेस्ट, 2014 सेसर कांगरी, 2015 काकसेट, 2016 मुकुट, 2017 धौलागिरी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The marginalized tricolor wrecked the Mount Dhaulagiri of Nepal