DA Image
1 अक्तूबर, 2020|12:01|IST

अगली स्टोरी

गेहूं और मसूर की खेती पर बारिश की मार

गेहूं और मसूर की खेती पर बारिश की मार

जिले में लगातार बारिश और ओलावृष्टि की मार किसानों पर पड़ रही है। बारिश के कारण गेहूं और मसूर की खेती बर्बाद हो रही है। जिला मुख्यालय में गुरफ़वार की बारिश ने किसानों की मुश्किलें और अधिक बढ़ा दी है। नगर से सटे पौण, पपदेव, बजेटी, टकाड़ी, टकौड़ा में किसानों की खड़ी फसल बर्बाद हो रही है। पहले कोरोना के कारण खेतों में नहीं पा पाए। अब बारिश की मार उनके जख्मों पर दोहरी मार मार रही है। पौण के किसान सुमित ने बताया कि गांव के लोग गेहूं की खेती करते हैं। मसूर भी यहां पर बोई जाती है। लेकिन बारिश के कारण गेहूं लगातार बर्बाद हो रहा है। ऐसे ही हालात रहे तो एक एकड़ में खड़ी फसल मिट्टी में समा जाएगी। पपदेव के अभिषेक मिश्रा ने कहा कि बारिश यूं ही जारी रही तो किसानों की कमर टूट जाएगी। कहा प्रशासन को शीघ्र ही प्रभावित किसानों की सूची बनाकर मुआवजा देना चाहिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rains hit wheat and lentil cultivation