Pithoragarh remembers Nirmal Pandit on death anniversary - पिथौरागढ़ में पुण्यतिथि पर निर्मल पंडित को किया याद DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पिथौरागढ़ में पुण्यतिथि पर निर्मल पंडित को किया याद

पिथौरागढ़ में पुण्यतिथि पर निर्मल पंडित को किया याद

राज्य आंदोलन के पुरोधा स्वर्गीय निर्मल पंडित की 29वीं पुण्यतिथि पर विभिन्न संगठनों के लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। वक्ताओं ने कहा कि जब-जब जनमुद्दों की बात आएगी, तब-तब निर्मल लोगों को याद आएंगे।

गुरुवार को शहीद स्मारक में आयोजित कार्यक्रम में निर्मल पंडित को पुष्प अर्पित कर याद किया गया। वक्ताओं ने कहा कि 27 मार्च 1998 में शराब के विरोध में पंडित ने आत्मदाह कर लिया था। 16 मई 1998 को पंडित ने सफदरजंग अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांसें ली। वर्ष 1996 में आमरण अनशन कर पिथौरागढ़ में गलत तरीके से हुई पुलिस भर्ती को निरस्त कराया था। शहादत देने वाले पंडित का उत्तराखंड राज्य की लड़ाई में अहम योगदान रहा। वो चिटगल से जिला पंचायत सदस्य भी रहे। 57 दिन तक सेंट्रल जेल फतेहगढ़ भी रहे थे। पंडित को डॉ. गुरुकुलानंद कच्चाहारी, प्रेम सिंह बिष्ट, डीएन भट्ट, राज्य आंदोलनकारी गोपू महर, त्रिलोक महर, ऋषेंद्र महर, राकेश देवलाल, धर्म चंद, देवी चंद, नरेंद्र चंद, दिनेश गुरुरानी, विजेंद्र महर, दीप जोशी, गेहराज पांडे, हिमांशु वर्मा, दीपक लोहिया, प्रदीप महर, डॉ. नरेंद्र शर्मा, कर्नल रामदत्त जोशी, चंद्रशेखर मखौलिया, बीबी भट्ट, राकेश धामी, नारायण सोराड़ी, रमेश जोशी, विजय विश्वकर्मा ने श्रद्धांजलि दी। अर्जुन बिष्ट ने गिटार की धुन पर गीत प्रस्तुत किए। संचालन जुगल किशोर पांडे ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pithoragarh remembers Nirmal Pandit on death anniversary