DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  पिथौरागढ़  ›  मुनस्यारी-दुंग पैदल मार्ग में टूटे पुल से कर रहे हैं लोग आवाजाही
पिथौरागढ़

मुनस्यारी-दुंग पैदल मार्ग में टूटे पुल से कर रहे हैं लोग आवाजाही

हिन्दुस्तान टीम,पिथौरागढ़Published By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 09:40 PM
मुनस्यारी-दुंग पैदल मार्ग में टूटे पुल से कर रहे हैं लोग आवाजाही

चीन सीमा पर स्थित भारतीय सेना की चौकियों के साथ माइग्रेशन गांव मिलम को जोड़ने वाले मुनस्यारी-दुंग पैदल मार्ग पर क्षतिग्रस्त लोहे का पुल दो साल बाद भी नहीं बन सका है। ग्लेशियर टूटने से पुल क्षतिग्रस्त हो गया था। इसका नवनिर्माण न होने से माइग्रेशन वाले ग्रामीणों के साथ ही सेना के जवानों को जान जोखिम में डालकर आवाजाही करनी पड़ रही है।

वर्ष 2019में मुनस्यारी-दुंग पैदल मार्ग पर गोंखा गाड़ में बना लोहे का पुल ग्लेशियर टूटने से क्षतिग्रस्त हो गया था। इस पुल पर तब से आवाजाही खतरनाक बनी है। बावजूद इसके पुल निर्माण के प्रयास अब तक नहीं हुए। यह पैदल मार्ग चीन सीमा पर स्थित भारतीय सेना की चौकियों के साथ माइग्रेशन गांव मिलम को जोड़ता है। चीन सीमा की चौकसी में तैनात सेना के जवानों, बीआरओ के मजदूरों व ग्रामीणों सहित 1हजार से अधिक लोगों की आवाजाही का यह एकमात्र पैदल रास्ता है। पुल न बनने से सभी को किसी तरह जान जोखिम में डालकर गोंखा गाड़ पार करनी पड़ रही है। जलस्तर बढ़ने के साथ ही खतरा अधिक बढ़ने लगा है।

संबंधित खबरें