DA Image
31 अक्तूबर, 2020|9:29|IST

अगली स्टोरी

झूलाघाट में काली पट्टी बांधकर ग्रामीणों ने किया पंचेश्वर बांध का विरोध

झूलाघाट में काली पट्टी बांधकर ग्रामीणों ने किया पंचेश्वर बांध का विरोध

भारत और नेपाल के बीच काली नदी में प्रस्तावित पंचेश्वर बांध का विरोध तेज हो गया है। बांध से प्रभावित हो रहे लोगों ने काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने स्थानीय लोगों की सहमति के बिना बांध बनाने का निर्णय लिया है। जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सोमवार को माटू संगठन के विमल भाई के नेतृत्व में ग्रामीणों ने काली पट्टी बांधकर केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने टिहरी बांध की चर्चा करते हुए कहा कि डीपीआर की जानकारी ग्राम स्तर के प्रतिनिधियों यहां भी नहीं दी जा रही है। कहा कि बांध को लेकर जन सुनवाई की रस्म निभाने को की जा रही कोशिश आम आदमी के साथ धोखा है। जिसका सभी को विरोध करना होगा। उन्होंने कहा जनसुवाई के लिए खुला मंच होना चाहिए। जिससे यहां रह रहे लोग अपनी बात रख सकें। पंचेश्वर बांध डूब क्षेत्र संघर्ष समिति के संयोजक चन्द्रशेखर भट्ट ने कहा कि समस्त डूब क्षेत्र में आ रहे ग्रामीणों के हितों की रक्षा के लिए संघर्ष किया जाएगा। मौके पर हेम पंत, मदन मोहन भट्ट, वासुदेव भट्ट, देवकी देवी, खीमा नंद भट्ट, हीरा बल्लभ भट्ट, जानकी कापड़ी, अंजलि कुमारी, उमेश चंद्र भट्ट, राजू धामी, नरेंद्र सिंह, काशी चंद, सुभाष तिवारी, किशन थापा और मोहन भट्ट समेत कई लोग शामिल रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Opposing the Pancheshwar dam by tying black band in Jhulaghat