DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्लास्टिक मुक्त हिमालय बनाने के लिए चलाया अभियान

राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण एवं सतत विकास संस्थान कोसी कटारमल अल्मोड़ा ने चौंदास क्षेत्र के हिमखोला, पांगू, सोसा, सिर्खा, सिर्दांग, जयकोट, पांगला और नियांग में प्लास्टिक मुक्त हिमालय बनाने के लिए तीन दिवसीय कार्यशाला की। जिसमें ग्रामीणों से प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने की अपील की । कार्यशाला में संस्थान के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. आईडी भट्ट ने ग्रामीणों को प्लास्टिक एवं उससे होने वाले दुष्प्रभावों की जानकारी दी। इस दौरान वैज्ञानिकों ने औषधीय पादपों के संरक्षण एवं संवर्धन पर जागरूकता कार्यक्रम भी किया। जिसमें युवा वैज्ञानिक डॉ. संदीप रावत ने औषधीय पादपों की विस्तृत जानकारियों के साथ उनके कृषिकरण को बढ़ावा देने, संकटग्रस्त प्रजातियों के संरक्षण पर जोर दिया। चौंदास क्षेत्र में भगौलिक परिस्थितियों एवं जलवायु को ध्यान में रखते हुए संस्थान ने कृषकों को सतुवा, वन हल्दी,जंबू, कूट, कुटकी, काला जीरा, तेजपत्ता के संवर्धन एवं कृषिकरण हेतु तकनीकी जानकारियां दी गई। इस दौरान वन क्षेत्राधिकारी लोहाघाट एआर टम्टा कुलदीप जोशी ,रवि पाठक, नरेंद्र परिहार सहित कई लोग शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Drive to make plastic free Himalaya