DA Image
11 नवंबर, 2020|10:27|IST

अगली स्टोरी

पुरानी पेंशन के लिए होगा जन आंदोलन

default image

पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा पुरानी पेंशन बहाली की लड़ाई को जन आंदोलन के रूप में लड़ेगा। इसके लिए जल्द ही प्रदेश पदाधिकारी रायशुमारी के बाद पूरे राज्य के लिए कार्ययोजना तैयार करेगी।

पत्रकारों को जानकारी देते हुए संयुक्त मोर्चे के प्रांतीय महासचिव सीताराम पोखरियाल ने कहा कि पुरानी पेंशन कर्मचारियों की हक की लड़ाई है। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में कई कर्मचारी, शिक्षक ऐसे हैं जिन्हें सेवानिवृत्ति के बाद मायूस होकर अपने घरों को लौटना पड़ा। कहा कि जन प्रतिनिधियों को जनता चुनती है उन्हें पेंशन दी जाती है इसका कोई विरोध मोर्चा नहीं कर रहा। कहा कि कर्मचारी जब तक सेवा में है वह भी जन सेवा ही करता है ऐसे में पुरानी पेंशन बहाल न होने से उन शिक्षकों व कर्मचारियों को अपने परिवार का भरण पोषण करना मुश्किल हो जाता है जो पुरानी पेंशन के दायरे में नहीं आ रहे हैं। कहा कि यह एक गंभीर मुद्दा है। पुरानी पेंशन बहाली को लेकर अभी राज्य भर से मोर्चे से जुड़े कर्मचारियों द्वारा प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा जा रहा है। अभियान के समाप्त होने के बाद भी इस दिशा में सरकार की ओर से कोई निर्णय नहीं लिया गया तो प्रांतीय कार्यकारिणी इसे जन आंदोलन बनाने के लिए कार्ययोजना बनाएगी। इसके लिए सभी जिलों में जन-जागरुकता अभियान चलाया जाएगा। जनता को साथ लेकर पुरानी पेंशन के लिए आंदोलन शुरू करेगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:There will be mass movement for old pension