The story of Dhol-Damau is festooned - ढोल-दमाऊ के साथ किया कथा व्यास को विदा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ढोल-दमाऊ के साथ किया कथा व्यास को विदा

पौड़ी के डांडानागराजा मंदिर में चल रही श्रीमद्भागवत कथा में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। लसेरा गांव निवासी राजेश रावत, गोविंद रावत, दरबान सिंह रावत द्वारा अपने पित्रों के मोक्ष के लिए बीते 12 मई से मंदिर में कथा का आयोजन किया गया था। जिसमें कथा व्यास आचार्य विकास पंत ने कथा का वाचन किया। इस मौके पर गंभीर पंवार, प्रेम पंवार, नवीन पंवार, हरीश कुकरेती, पंकज रावत, गणेश देशवाल, मित्रानंद रतूड़ी आदि शामिल थे। वहीं, पौड़ी के कांडई गांव के नागराजा मन्दिर में चल रहे विष्णु पुराण कथा का शनिवार को विधिविधान के साथ समापन हो गया। समापन के अवसर पर मंदिर समिति द्वारा शिवराम सिंह नेगी के सहयोग से भंडारे का आयोजन किया गया गया। जिसमें बड़ी संख्या में पहुंचकर भक्तजनों ने प्रसाद ग्रहण किया। मंदिर समिति द्वारा कांडई गांव से दूसरे गांव में विवाहित लड़कियों को कल्यों कंडी देकर विदा किया। भंडारे के बाद व्यास रतीश काला जी को ढोल-दमाउ के साथ विदा किया गया। मंदिर समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि अगले साल भी नागराजा मंदिर का पूजन व भंडारे का आयोजन किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The story of Dhol-Damau is festooned