Pran Pratishtha of idols of Nagaraja Vishnu - नागराजा, विष्णु की मूर्तियों की हुई प्राण प्रतिष्ठा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नागराजा, विष्णु की मूर्तियों की हुई प्राण प्रतिष्ठा

कांडई गांव के नागराजा मंदिर में चल रहे विष्णु पुराण कथा के छटे दिन मंदिर प्रांगण में ग्रामीणों के सहयोग से बनी नागराजा भगवान, विष्णु भगवान आदि की भव्य मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा की गई । इसके बाद कथा वाचक व्यास रतीश काला ने श्रीराम चन्द्र के चरित्र पर प्रकाश डालते हुए बताया की श्रीराम मर्यादा पुरुषोतम हैं। श्रीराम सर्व समर्थ होते हुए भी मानव देह में रहते हैं। आदर्श पुत्र, आदर्श भाई, आदर्श पति, आदर्श शिष्य और आदर्श राजा की भूमिका का निर्वाह करते हुए मानव मात्र के लिए आदर्श की शिक्षा दी व लाखों वर्षों से एक उत्कृष्ट समाज की स्थापना का आदर्श स्थापित किया। श्रीराम ने धर्म युद्ध कैसा होना चाहिए इसका भी उदाहरण दिया । आज की कथा में कृष्ण जन्म आदि का भी बखान किया गया। मंदिर समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि शनिवार को कथा के समापन के साथ ही दोपहर में भंडारे का भी आयोजन किया जाएगा। वहीं, पाबौ ब्लाक के गोदेश्वर मंदिर में आयोजित श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान महायज्ञ सप्ताह में बड़ी संख्या में श्रद्धालु जुटे। इस दौरान आयोजित भंडारे का भी आयोजन किया गया। सैंजी ग्राम के गोदेश्वर मन्दिर प्रांगण में आयोजित कथा में भैरव दत्त खंकरियाल ने कहा कि श्रीमद् भागवत का मूल सार परोपकार की भावना से काम करना है। शुक्रवार को भैरव दत्त खंकरियाल ने वैदिक मंत्रोचार के साथ हवन पूर्णाहुति कराया। कथा में सैंजी, कोठला, ग्वालखुडा, देवकोट, उन्दलखा के श्रद्धालु जुटे। इस मौके पर कथा सहयोगी सुरेन्द्र नौटियाल, संतन सिंह चैाहान, जमुना गिरी, शेखर गिरी, भजन गिरी ,खेम सिंह, राकेश शाहू, जगदीश भंडारी, कैलाश पोखरियाल आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pran Pratishtha of idols of Nagaraja Vishnu