DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ढोल सागर रहेगा घुसगलीखाल मकरैंण मेले में आकर्षण का केंद्र

ढोल सागर रहेगा घुसगलीखाल मकरैंण मेले में आकर्षण का केंद्र

घुसगलीखाल में होने वाले मकरैंण मेले की तैयारियां शुरू हो गई है। हर साल यहां पर मेले का आयोजन किया जाता है। जिसमें स्थानीय ग्रामीणों के साथ ही बड़ी संख्या में दूरदराज से भी श्रद्धालु हिस्सा लेते है। मेले में आयोजित होने वाली प्रतियोगिताओं में गढ़वाल की परंपराओं पर आधारित कार्यक्रम होते है। जिसमें ढोल सागर आकर्षण का केंद्र होता है। शनिवार को मेले के सफल आयोजन को लेकर श्री दुर्गा मंदिर मकरैण मेला आयोजन समिति घुसगलीखाल की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि मेला 13 व 14 जनवरी को आयोजित किया जाएगा। मेले में करीब 120 गांवों के लोग हिस्सा लेते है। मेले में ढोल सागर के साथ ही महिला मंगल दलों की थड्या, चौफला, सांस्कृतिक प्रतियोगिता के साथ ही विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। बैठक में मंदिर समिति के संयोजक अनुसूया प्रसाद सुंद्रियाल, सचिव कमल रावत, कोषाध्यक्ष नेत्र सिंह बिष्ट, जापनी इंजीनियर एवीई, कैलाश सुंद्रियाल, संतोष सिंह, रवींद्र, विनोद, मोहन प्रकाश सुंद्रियाल आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dhol Sea will be the center of attraction at Maqrina Fair