DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  पौड़ी  ›  पौड़ी में अब न्याय पंचायत स्तर पर लगेंगे शिविर
पौड़ी

पौड़ी में अब न्याय पंचायत स्तर पर लगेंगे शिविर

हिन्दुस्तान टीम,पौड़ीPublished By: Newswrap
Wed, 26 Feb 2020 03:54 PM
पौड़ी में अब न्याय पंचायत स्तर पर लगेंगे शिविर

आम लोगों की समस्याओं को देखते हुए डीएम पौड़ी ने बहुद्देशीय शिविरों को अब न्याय पंचायत स्तर पर भी आयोजित करने के निर्देश दिए हैं। तहसील स्तर पर आयोजित होने वाले शिविरों में फरियादियों की अधिकतर समस्याएं या तो ब्लाक स्तर की होती हैं या फिर तहसील स्तर की। ऐसे में तहसील स्तर पर अधिक समस्याएं एक साथ आने और फरियादियों को समय भी काफी जाया हो जाता है।

पौड़ी के डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल ने अब न्याय पंचायत स्तर पर भी शिविर लगाने के निर्देश संबंधित एसडीएम, डीपीआरओ और बीडीओ को दिए है। न्याय पंचायत स्तर पर शिविरों में ब्लाक और तहसील स्तर के अफसर हिस्सा लेंगे और समस्याओं को निस्तारण मौके पर ही कर देंगे। एक महीने में दो ऐसे शिविर लगाएं जाएंगे। डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल ने बताया है कि एक ग्राम विकास अधिकारी, राजस्व उपनिरीक्षक और ग्राम पंचायत विकास अधिकारी के पास एक से अधिक ग्रामसभाओं का जिम्मा भी है। ऐसे में शिकायत यह भी है कि मौके पर आम लोगों को ये अधिकारी नहीं मिल पाते है। इस समस्या के लिए भी उक्त अधिकारियों के संबंधित स्थानों पर बैठने का समय और तिथि भी नियत करने के लिए कहा गया है ताकि उसी दिन लोग अपने काम के लिए आए और उनका अनावश्यक समय बर्बाद न हो। ग्रामसभा वार रोस्टर बनाते हुए संबंधित ग्रामप्रधानों को भी इसे देने के निर्देश डीएम ने दिए है। जिला स्तरीय अफसरों को निर्देश दिए गए है कि वह न्याय पंचायत स्तर पर आयोजित होने वाले इन शिविरों में हिस्सा लेने के लिए अपने अधीनस्थ अफसरों को निर्देशित करे।

नैनीडांडा से ही शिविर क शुरुआत

एक दिन में अभी तक एक तहसील पर ही डीएम की अध्यक्षता में बहुउद्देशीय शिविर आयोजित हो रहा है। ऐसे में तहसील स्तर पर आयोजित होने वाले शिविरों की संख्या भी बहुत कम हो पा रही है। निर्णय लिया जा रहा है कि एक दिन में कम से कम दो तहसीलों में शिविर आयोजित हो। एक में डीएम तो दूसरे शिविर में सीडीओ अध्यक्षता करेंगे। ऐसे में कम समय में अधिक समस्याओं का निस्तारण हो सकेंगा। पौड़ी जिले में 15 ब्लाक हैं और 12 तहसील हैं ऐसे में कम समय में तहसील स्तरीय शिविर आयोजित हो जाएंगे। डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल ने बताया है कि इसकी शुरूआत नैनीडांडा से करने का प्रस्ताव है। एक दिन पहले गांव में होम स्टे भी किया जाएगा। दूसरे दिन पास की तहसील में शिविर आयोजित किया जाएगा।

संबंधित खबरें