DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अधिकारियों के नदारद रहने पर सदस्य नाराज

अधिकारियों के नदारद रहने पर सदस्य नाराज

जिला पंचायत की बैठक में सदस्यों ने आरोप लगाया कि पिछली बैठकों में उठाई गई समस्याएं अभी तक हल नहीं हो पाई हैं। जिससे विभिन्न क्षेत्रों में लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। बैठक में जंगलों में लगी आग के साथ ही विभिन्न विभागों से संबंधित समस्याएं उठी। बैठक में कई अधिकारियों के अनुपस्थित रहने पर सदस्यों ने नाराजगी जताई। सदस्यों ने कहा कि हर बार बैठक में कई अधिकारी नदारद रहते हैं जिससे समस्याएं हल नहीं हो पाती हैं। जिस पर सीडीओ ने अनुपस्थित अधिकारियों का चिन्हिकरण कर 1 दिन का वेतन काटने की संस्तुति दी। बुधवार को जिला पंचायत सभागार में आयोजित बैठक में ब्लाक प्रमुख कोट सुनील लिंगवाल ने इन दिनों जंगलों में लगी आग पर चिंता जताते हुए इसकी रोकथाम के लिए उचित कदम उठाने पर जोर दिया। कहा कि जंगलों में हर साल आग लगने से लाखों की वन संपदा खाक हो रही है। जंगलों में आग की घटनाओं को रोकने के लिए जनवरी महीने से ही ठोस कार्ययोजना बनाकर सभी के सहयोग से कार्ययोजना बनानी चाहिए। बैठक में सदस्यों ने जंगली जानवरों के बढ़ते आंतक से छुटकारा दिलाने के लिए जंगलों में फलदार पौधे लगाने की बात कही। जिला पंचायत सदस्य कलूंण डीएन शाह ने उरेडा विभाग द्वारा लगाई गई सोलर लाइट के लंबे समय से खराब रहने की शिकायत सदन में रखी। सदस्यों ने रिखणीखाल ब्लाक में पशुओं पर फैल रहे खुरपका रोग को लेकर उचित कदम उठाने, उज्जवला योजना के तहत मिलने वाले गैस कनेक्शनों के लिए बनाई गई लिस्ट में गड़बड़ी होने, राशन कार्ड ऑनलाइन नहीं होने आदि की शिकायत रखी। इस दौरान साउंड सिस्टम में खराबी आने पर जिला पंचायत अध्यक्ष दीप्ति रावत और उपाध्यक्ष सुमन कोटनाला ने नाराजगी भी जताई। उन्होंने अधिकारियों को सदस्यों द्वारा उठाई गई समस्याओं को जल्द हल करने के निर्देश दिए। बैठक में सीडीओ रवनीत चीमा, जिला पंचायत सदस्य प्रकाश बुटोला, लक्ष्मी बिष्ट, ब्लाक प्रमुख पौड़ी संतोषी रावत, अपर मुख्य अधिकारी संतोष खेतवाल आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Authorities angered member over conspicuously absent stay