Voters learned to vote from VVPAT - मतदाताओं ने वीवीपैट से वोटिंग करना सीखा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मतदाताओं ने वीवीपैट से वोटिंग करना सीखा

केंद्रीय निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के क्रम में 2019 के लोकसभा चुनाव वीवीपैट यानि मतदाता सत्यापन योग्य पेपर आडिट ट्रेल के माध्यम से होने हैं। अधिकारियों के प्रशिक्षण के बाद अब मतदाताओं को इसके लिए जागरूक करने की पहल शुरू कर दी गई है।

नगर में बुधवार को तीन सार्वजनिक स्थलों पर मशीन और वीवीपैट के माध्यम से लोगों को जागरूक किया गया। पहले चरण में स्टेट लेबल मास्टर ट्रेनर के माध्यम से डिस्ट्रिक लेबल मास्टर ट्रेनर को प्रशिक्षित किया गया। इसके बाद विधानसभा स्तर परमास्टर ट्रेनर तैयार किए गए। जिनके माध्यम से आंगनबाड़ी, ग्राम्य विकास अधिकारी, बीएलओ आदि को प्रशिक्षित किया गया। जो अब मतदाताओं को जागरूक कर रहे हैं। संयुक्त मजिस्ट्रेट अभिषेक रुहेला की मौजूदगी में मेजर राजेश अधिकारी जीआईसी, पुराना रोडवेज बस स्टैंड, जिलाधिकारी कार्यालय परिसर में मतदाताओं को वीवीपैट के इस्तेमाल की जानकारी दी। मास्टर ट्रेनर अमित त्रिपाठी और अनिल रौतेला ने मतदाताओं को बताया कि वीवीपैट मशीन में वोटिंग करने के बाद कुछ ही सैकेंड में मतदाता को उसके द्वारा दिया गया मत एक छोटी स्लिप में नजर आएगा। जो स्वत: ही ड्राप बॉक्स में गिर जाएगा। लगभग 7 सैकेंड में यह प्रक्रिया होगी। इस प्रक्रिया से मतदाता को पता चल जाएगा कि उसने जिसे वोट दिया उनका मत उस व्यक्ति अथवा पार्टी को मिला की नहीं।

-----------

एक माह तक चलेगा अभियान

नैनीताल। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि 58 नैनीताल विस में दो वाहनों के माध्यम से मतदाताओं को जानकारी दी जानी है। लगभग 1 माह तक पूरे विस में प्रशिक्षण दे दिया जाएगा। एक वाहन नैनीताल नगर के बाद खुर्पाताल, पंगूट, बेलुवाखान, ज्योलीकोट आदि क्षेत्र में जाएगा। जबकि दूसरा बेतालघाट से भवाली, कोश्या कुटौली, मोना बाना से होता हुआ महरागांव आदि क्षेत्रों में जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Voters learned to vote from VVPAT