DA Image
28 सितम्बर, 2020|5:02|IST

अगली स्टोरी

राज्य सरकार दस दिन के भीतर जांच कर पूरी रिपोर्ट पेश करे

default image

कोटद्वार में राजाजी नेशनल पार्क में स्थापित सिद्धबली स्टोन क्रशर हटाने के खिलाफ दायर जनहित याचिका पर गुरुवार को हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। सुनवाई में कोर्ट ने राज्य सरकार को दस दिन के भीतर संबंधित जांच कर पूरी रिपोर्ट पेश करने को कहा है। साथ ही अगली सुनवाई के लिए दस दिन बाद की तिथि नियत की है। मामले की सुनवाई कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश रवि कुमार मलिमथ और न्यायमूर्ति आरसी खुल्बे की खंडपीठ में हुई।

कोटद्वार के देवेंद्र अधिकारी ने जनहित याचिका दायर कर कहा है कि कोटद्वार में राजाजी नेशनल के रिजर्व फॉरेस्ट में सिद्धबलि क्रशर लगाया गया है। यह स्टोन क्रशर सुप्रीम कोर्ट के द्वारा जारी गाइड लाइन के मानकों को पूरा नहीं करता है। सुप्रीम कोर्ट ने अपनी गाइड लाइन में कहा है कि कोई भी स्टोन क्रशर नेशनल पार्कों के 10 किमी एरियल डिस्टेंस के भीतर स्थापित नहीं किया जा सकता। जबकि यह स्टोन क्रशर साढ़े छह किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। पूर्व में सरकार ने अपनी रिपोर्ट पेश कर कहा था कि यह स्टोन क्रशर सड़क से 13 किमी दूर है। जिस पर याची के अधिवक्ता ने इसका विरोध करते हुए कोर्ट को बताया था कि दूरी मापने के लिए एरियल डिस्टेंस का नियम है न कि सड़क से।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The state government should investigate and present the full report within ten days