target for miningas to be a industry by removing the word mafia - खनन से माफिया शब्द हटाकर उद्योग रूप में स्थापना लक्ष्य DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खनन से माफिया शब्द हटाकर उद्योग रूप में स्थापना लक्ष्य

खनन से माफिया शब्द हटाकर उद्योग रूप में स्थापना लक्ष्य

प्रदेश के खनिज विकास परिषद अध्यक्ष राजकुमार पुरोहित ने कहा कि खनन को लेकर प्रदेश सरकार खासी गंभीर है। प्रदेश मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के दिशानिर्देशों के क्रम में खनन से जुड़ चुके माफिया शब्द को हटाने तथा इसे उद्योग के रूप में स्थापित कर बेरोजदारों को जोड़े जाने की दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं।

राज्य अतिथि गृह में हुई पत्रकार वार्ता में खनन परिषद अध्यक्ष ने कहा कि बेरोजगारों के लिए रोजगार के साथ ही सरकार स्वरोजगार की भी पक्षधर है। प्रदेश भर में 18000 रिक्तियों के सापेक्ष नियुक्तियां की जानी हैं। स्वरोजगार के लिए स्टे होम योजना को शुरू किया गया। जिससे पर्यटन क्षेत्र के बेरोजगार लाभांवित हो रहे हैं। प्रदेश सरकार द्वारा की गई इवेस्टर सबमिट से भी रोजगार के अवसर खुले हैं। सौर उर्जा में ही 600 करोड़ के कार्य होने हैं। सौर उर्जा कार्य के लिए प्रदेश में 208 संस्थाएं पंजीकृत हैं। इसके अलावा हरित उर्जा, कीड़ा जड़ी से भी लोगों को जोड़ा जा रहा है। प्रदेश में स्थापित 55 स्टोन क्रेशर को नियम विरुद्ध बताते हुए मामला हाईकोर्ट पहुंचने के सवाल पर कहा कि इसकी जांच कराई जाएगी। उन्होंने सदस्यता अभियान को लेकर नगर मंडल पदाधिकारियों व सदस्यों की बैठक लेकर सदस्यता अभियान की समीक्षा की। इस मौके पर भूपेंद्र सिंह बिष्ट, अरविंद पडियार, राजेंद्र कैड़ा, किशन पांडे, अशोक तिवारी, रवि कनियाल आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:target for miningas to be a industry by removing the word mafia