DA Image
18 जनवरी, 2020|12:23|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रभारी जिला जज ने आरोपी की जमानत अर्जी खारिज की

पंजाब नेशनल बैंक से 4.20 लाख रुपये के दो चैक चोरी करने और बैंक की अन्य शाखा से फर्जी हस्ताक्षर कर धनराशि निकालने के आरोपी की जमानत अर्जी मंगलवार को प्रभारी जिला जज ने खारिज कर दी। अभियोजन पक्ष की ओर से डीजीसी सुशील शर्मा ने सीसीटीवी फुटेज और पर्याप्त साक्ष्य का हवाला देते हुए जमानत का विरोध किया।प्रभारी जिला जज तथा द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश राकेश कुमार की न्यायालय में मामले की सुनवाई हुई। हिम्मतपुर हल्द्वानी निवासी मथुरा प्रसाद पुत्र बंशीधर की ओर से 21 मार्च 2019 को हल्द्वानी में पीएनबी प्रबंधक और कार्मिकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। इसमें कहा कि बीती 19 मार्च को उन्होंने तीन चैकों के माध्यम से पीएनबी नैनीताल रोड हल्द्वानी की शाखा में 6.30 लाख रुपये जमा किए। पड़ताल में ज्ञात हुआ कि उनका एकमात्र 2.10 लाख का चैक जमा हुआ जबकि 4.20 लाख के दो चैक जमा ही नहीं हुए।

उधर 4 मई 2019 को कूर्मांचल बैंक काशीपुर में चैक चोरी कर रहे रामकुमार पुत्र अनोखे लाल को पुलिस ने गिरफ्तार किया। आरोपी ने पीएनबी से चोरी 2 चैकों के बारे में भी बताया। उक्त चैक दसौनिया जापकला पीलीभीत निवासी महेंद्र सिंह पुत्र सुखलाल व रघुवीर सिंह ने चोरी किए। जिन्हें पीएनबी की दिनेशपुर शाखा से मथुरा प्रसाद के फर्जी हस्ताक्षर और आधार के माध्यम से भुनाया गया। मंगलवार को आरोपी महेंद्र की जमानत अर्जी न्यायालय में प्रस्तुत की गई। डीजीसी सुशील शर्मा ने सीसीटीवी फुटेज और अन्य साक्ष्य का हवाला दिया। इस पर प्रभारी जिला जज ने जमानत अर्जी खारिज कर दी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:prabhaaree jila jaj ne aaropee kee jamaanat arjee khaarij kee 48 5000 In-charge District Judge dismisses bail plea of accused