DA Image
25 नवंबर, 2020|2:22|IST

अगली स्टोरी

सूखाताल झील पुनर्जीवन को सिंचाई विभाग और डीडीए वैज्ञानिक प्रस्ताव बनाएं

सूखाताल झील पुनर्जीवन को सिंचाई विभाग और डीडीए वैज्ञानिक प्रस्ताव बनाएं

कुमाऊ आयुक्त अरविंद सिंह ह्यांकी ने सिंचाई विभाग और विकास प्राधिकरण को निर्देश दिए कि वह आपसी तालमेल के साथ सूखाताल झील के पुनर्जीवन के लिए वैज्ञानिक आधार पर प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करें।

आयुक्त कार्यालय में सिंचाई विभाग की प्रस्तावित योजनाओं की समीक्षा करते हुए आयुक्त ने विभाग द्वारा सूखाताल झील के विकास हेतु पूर्व में प्रस्तुत की गयी तीन योजनाओं को निरस्त कर दिया। कहा सिचाई विभाग डीडीए के सहयोग से नया प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करे। प्रस्ताव तैयार करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि सूखाताल झील में पानी बना रहे और आवश्यकता पड़ने पर नैनी झील को पानी उपलब्ध कराया जा सके। पर्यटन की दृष्टि से सूखाताल झील को नए डेस्टीनेशन के रूप में भी विकसित किया जाए। प्रस्ताव में जल संग्रहण का भाग सिंचाई विभाग और सौंदर्यीकरण का भाग डीडीए तैयार करे। 20 अगस्त से पूर्व नगर के संभ्रान्त नागरिकों के साथ बैठक कर तैयार प्रस्ताव की डिटेल साझा कर सुझाव लिए जाएंगे। कहा कि झील से मलबा निकालने को टेंडर करा लिए जाएं। आयुक्त ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को सड़ियाताल (सरिता ताल) में प्रदूषण रहित पानी भरे रहने से संबंधित निर्देश भी दिए।

ये रहे मौजूद

-बैठक में प्रबन्धन निदेशक केएमवीएन एवं उपाध्यक्ष जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण रोहित कुमार मीणा, सचिव जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण पंकज उपाध्याय, उप जिलाधिकारी विनोद कुमार, मुख्य अभियंता सिंचाई एनएस पतियाल, अधिशासी अभियंता सिंचाई एचसी सिंह, अधिशासी अभियंता जल संस्थान संतोष कुमार उपाध्याय आदि मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Make drought pool lake regeneration by irrigation department and DDA scientific proposal