DA Image
28 फरवरी, 2021|12:35|IST

अगली स्टोरी

किलबरी जलाशय का विकास कर इसका बेहतर रखरखाव होगा

default image

नैना देवी हिमालयन पक्षी संरक्षण समिति की बैठक गुरुवार को मुख्य वन संरक्षक कुमाऊं डॉ.तेजस्विनी अरविंद पाटिल के निर्देशन में हुई। प्राणी उद्यान के सभागार में हुई बैठक में पक्षी संरक्षण व सुरक्षा को लेकर चर्चा हुई और मातहतों को निर्देश दिए गए।

बैठक में तय किया गया कि किलबरी जलाशय का विकास कर इसका बेहतर रखरखाव किया जाएगा। नेचर गाइड तथा सुरक्षाकर्मियों को निर्देश दिए कि वे स्थानीय जनता से बेहतर सामंजस्य बनाएं। तय हुआ कि नैना देवी हिमालयन पक्षी संरक्षण समिति के सुचारू, सफल संचालन एवं ग्रामीणों के रोजगार सृजन के लिए ईको डेवलपमेंट कमेटी का गठन किया जाएगा। इसमें समिति के सभी सदस्यों द्वारा सहमति व्यक्त की गई। बैठक में तय हुआ कि किलबरी जलाशय को पर्यटकों के प्रवेश के लिए खोला जाए तथा उसके रखरखाव के लिए प्रवेश शुल्क लगाया जाए। बैठक में दक्षिणी कुमाऊं वृत्त के वन संरक्षक व समिति के सदस्य कुबेर सिंह बिष्ट, समिति के सचिव व नैनीताल वन प्रभाग के डीएफओ टीआर बीजूलाल समेत भूमि संरक्षण वन प्रभाग के प्रभागीय वनाधिकारी दिनकर तिवाड़ी, मुख्य कृषि अधिकारी डॉ.धनपत कुमार, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी की प्रतिनिधि डॉ़ हेमा राठौर, डब्ल्यूडब्ल्यूएफ के प्रतिनिधि मिराज, चिया से डॉ. कृष्ण कुमार टम्टा के अलावा 14 ग्राम पंचायत के प्रतिनिधि सदस्य समेत 70 गाम्रीण मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Kilbury reservoir will be developed and maintained