DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलिया नाले के वैज्ञानिक जांच को पहलीबार पहुंचे इसरो के वैज्ञानिक

नैनीताल के लिए संवेदनशील बने बलिया नाले को लेकर शासन प्रशासन गंभीर है। इस समस्या के स्थायी समाधान के लिए भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण(जीएसआई) के वैज्ञानिक लगे हुए हैं। वहीं पहली बार भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन(इसरो) के वैज्ञानिकों ने भी सोमवार को यहां का दौरा किया है। वैज्ञानिकों ने हाई रेजुलेशनड्रोन के माध्यम से यहां सर्वे शुरू कर दिया है। डीएम सविन बंसल की मौजूदगी में शुरू हुए सर्वे में ड्रोन उड़ाने में तकनीकी दिक्कत से देरी हुई, लेकिन बाद में वैज्ञानिक इसमें सफल रहे। इसरो के वैज्ञानिक मंगलवार को भी क्षेत्र में सर्वे करेंगे।फॉल्ट के ऊपर है बलियानालाकुमाऊं विवि के भू विज्ञान विभाग के वरिष्ठ प्रोफेसर डॉ.चारू चंद्र पंत बताते हैं कि बलिया नाला क्षेत्र भूगर्भीय फॉल्ट के उपर है। क्षेत्र से काठगोदाम तक जमीन के नीचे मेन बाउंड्री थ्रर्स्ट गुजरती है। इधर, यहां चल रहे मरम्मत कार्य को पिछले साल भारी भूस्खलन के बाद रोक दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ISRO scientist reached the scientific inquiry of ballia nalla for the first time